24 घाटों पर 6 लाख दीए जलाने का लक्ष्य 24 घाटों पर 6 लाख दीए जलाने का लक्ष्य
अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के संत कबीर सभागार में आज 04 नवम्बर, 2020 को प्रातः 11 बजे चतुर्थ दीपोत्सव-2020 की तैयारियों के सम्बन्ध में संकायाध्यक्षों, विभागाध्यक्षों, समन्वयकों एवं स्वयंसेवकों के साथ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह एवं जिला प्रशासन की तरफ से एडीएम सिटी अयोध्या वैभव शर्मा ने बैठक की। बैठक में दीपोत्सव-2020 को भव्य बनाने के लिए कुलपति रविशंकर सिंह ने बताया कि इस बार 24 घाटों पर लगभग 6 लाख दीए लगाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें 5 लाख 50 हजार दीए जलाये जायेंगे। इसके लिए 8 हजार स्वयंसेवकों, जिसमें विश्वविद्यालय परिसर, महाविद्यालय, विभिन्न गैर संस्थानिक संस्थान, एनसीसी, एनएसएस के स्वयसेवकों एवं छात्र-छात्राएं अपनी सहभागिता प्रदान करेंगे। दीपोत्सव में प्रति स्वयंसेवक 75 दीए जलाने का लक्ष्य है। कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय को पुनः दीपोत्सव की जिम्मेदारी मिली है। इस बार का लक्ष्य बड़ा है फिर भी हमें पूरा विश्वास है कि पिछली बार के रिकार्ड को तोड़ेगे। कार्यक्रम को लेकर विश्वविद्यालय द्वारा तैयारियां चल रही है एवं समितियां अपना कार्य शीघ्रता के साथ कर रही है। कोविड-19 के अनुपालन में स्वयंसेवक दीए जलायेंगे।     एडीएम सिटी अयोध्या वैभव शर्मा ने स्वयंसेवकों का उत्साह बढ़ाते हुए बताया कि आप सभी की सहभागिता बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। आप सभी अपने आप में दीपोत्सव के लिए मिशाल है।      दीपोत्सव कार्यक्रम के नोडल अधिकारी प्रो0 शैलन्द्र कुमार वर्मा ने बताया कि दीपोत्सव कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा कमेटियां गठित कर दी गई है। सभी कमेटियों के समन्वयकों एवं स्वयंसेवकों को उनके दायित्वों से भी अवगत करा दिया गया है।  प्रो0 वर्मा ने बताया कि इस बार दीपोत्सव में 5 लाख 50 हजार दीएं जलाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए अयोध्या की राम की पैड़ी पर 24 घाटों का चयन किया गया है। जिसमें लक्ष्मण घाट पर 48 हजार, वैदेही घाट 22 हजार, श्रीराम घाट 30 हजार, दशरथ घाट 39 हजार, भरत घाट 17 हजार, शत्रुध्न घाट 17 हजार, माण्डवी नागेश्वर उमाघाट 52 हजार, ऋतु कीर्ति घाट 40 हजार, कैकेयी घाट 40 हजार, कौशल्या घाट 40 हजार, सुमित्रा घाट 40 हजार, उर्मिला घाट 40 हजार सहित अन्य घाटों पर दीए जलाये जायेंगे। प्रो0 वर्मा ने बताया कि दिनांक 08 नवम्बर, 2020 को घाटों पर मार्किंग का कार्य कराया जायेगा। 11 नवम्बर को 12 बजे स्वयंसेवकों के साथ घाटों पर उनके कार्यो से उनको अवगत कराया जायेगा। दिनांक 12 व 13 नवम्बर, 2020 को प्रातः 10 बजे स्वयंसेवकों एवं समन्वयकों को उपस्थित होना होगा।  इस अवसर पर अधिष्ठाता छात्रकल्याण प्रो0 नीलम पाठक, मुख्य नियंता प्रो0 अजय प्रताप सिंह, प्रो0 चयन कुमार मिश्र, प्रो0 एसएस मिश्र, प्रो0 राजीव गौण, प्रो0 जसवंत सिंह, प्रो0 अनुपम श्रीावस्तव, प्रो0 के0के0 वर्मा, प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह, प्रो0 शैलेन्द्र कुमार, प्रो0 आरके सिंह, प्रो0 अनुप कुमार, डाॅ0 अशोक कुमार राय सहित बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय के शिक्षक, समन्वयक स्वयंसेवक उपस्थित रहे। 24 घाटों पर 6 लाख दीए जलाने का लक्ष्य

अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के संत कबीर सभागार में आज 04 नवम्बर, 2020 को प्रातः 11 बजे चतुर्थ दीपोत्सव-2020 की तैयारियों के सम्बन्ध में संकायाध्यक्षों, विभागाध्यक्षों, समन्वयकों एवं स्वयंसेवकों के साथ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह एवं जिला प्रशासन की तरफ से एडीएम सिटी अयोध्या वैभव शर्मा ने बैठक की। बैठक में दीपोत्सव-2020 को भव्य बनाने के लिए कुलपति रविशंकर सिंह ने बताया कि इस बार 24 घाटों पर लगभग 6 लाख दीए लगाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें 5 लाख 50 हजार दीए जलाये जायेंगे। इसके लिए 8 हजार स्वयंसेवकों, जिसमें विश्वविद्यालय परिसर, महाविद्यालय, विभिन्न गैर संस्थानिक संस्थान, एनसीसी, एनएसएस के स्वयसेवकों एवं छात्र-छात्राएं अपनी सहभागिता प्रदान करेंगे। दीपोत्सव में प्रति स्वयंसेवक 75 दीए जलाने का लक्ष्य है। कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय को पुनः दीपोत्सव की जिम्मेदारी मिली है। इस बार का लक्ष्य बड़ा है फिर भी हमें पूरा विश्वास है कि पिछली बार के रिकार्ड को तोड़ेगे। कार्यक्रम को लेकर विश्वविद्यालय द्वारा तैयारियां चल रही है एवं समितियां अपना कार्य शीघ्रता के साथ कर रही है। कोविड-19 के अनुपालन में स्वयंसेवक दीए जलायेंगे।

    एडीएम सिटी अयोध्या वैभव शर्मा ने स्वयंसेवकों का उत्साह बढ़ाते हुए बताया कि आप सभी की सहभागिता बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। आप सभी अपने आप में दीपोत्सव के लिए मिशाल है। 

    दीपोत्सव कार्यक्रम के नोडल अधिकारी प्रो0 शैलन्द्र कुमार वर्मा ने बताया कि दीपोत्सव कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा कमेटियां गठित कर दी गई है। सभी कमेटियों के समन्वयकों एवं स्वयंसेवकों को उनके दायित्वों से भी अवगत करा दिया गया है।  प्रो0 वर्मा ने बताया कि इस बार दीपोत्सव में 5 लाख 50 हजार दीएं जलाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए अयोध्या की राम की पैड़ी पर 24 घाटों का चयन किया गया है। जिसमें लक्ष्मण घाट पर 48 हजार, वैदेही घाट 22 हजार, श्रीराम घाट 30 हजार, दशरथ घाट 39 हजार, भरत घाट 17 हजार, शत्रुध्न घाट 17 हजार, माण्डवी नागेश्वर उमाघाट 52 हजार, ऋतु कीर्ति घाट 40 हजार, कैकेयी घाट 40 हजार, कौशल्या घाट 40 हजार, सुमित्रा घाट 40 हजार, उर्मिला घाट 40 हजार सहित अन्य घाटों पर दीए जलाये जायेंगे। प्रो0 वर्मा ने बताया कि दिनांक 08 नवम्बर, 2020 को घाटों पर मार्किंग का कार्य कराया जायेगा। 11 नवम्बर को 12 बजे स्वयंसेवकों के साथ घाटों पर उनके कार्यो से उनको अवगत कराया जायेगा। दिनांक 12 व 13 नवम्बर, 2020 को प्रातः 10 बजे स्वयंसेवकों एवं समन्वयकों को उपस्थित होना होगा।  इस अवसर पर अधिष्ठाता छात्रकल्याण प्रो0 नीलम पाठक, मुख्य नियंता प्रो0 अजय प्रताप सिंह, प्रो0 चयन कुमार मिश्र, प्रो0 एसएस मिश्र, प्रो0 राजीव गौण, प्रो0 जसवंत सिंह, प्रो0 अनुपम श्रीावस्तव, प्रो0 के0के0 वर्मा, प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह, प्रो0 शैलेन्द्र कुमार, प्रो0 आरके सिंह, प्रो0 अनुप कुमार, डाॅ0 अशोक कुमार राय सहित बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय के शिक्षक, समन्वयक स्वयंसेवक उपस्थित रहे।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *