हम मान लें तो हार है ठान लें तो जीत है हम मान लें तो हार है ठान लें तो जीत है
राजेश तिवारी अंबेडकरनगर/ अम्बेडकरनगर के गौरव बिरहा गायन जिनके लिखे गीत को आज भी सुनने को बिरहा प्रेमी बेताब रहते है और उनके द्वारा... हम मान लें तो हार है ठान लें तो जीत है

राजेश तिवारी

अंबेडकरनगर/ अम्बेडकरनगर के गौरव बिरहा गायन जिनके लिखे गीत को आज भी सुनने को बिरहा प्रेमी बेताब रहते है और उनके द्वारा लिखे गए गीत को आज भी गायकी की दुनिया मे स्थापित कर रहे है ऐसे बरवा बीठल पुर निवासी स्व0सहदेव वर्मा 91 वी पुण्यतिथि पर मुख्यातिथि के तौर पर टाण्डा विधायक संजूदेवी के प्रतिनिधि श्याम बाबू ने आज उनकी मूर्ति पर रामनामी पट्टिका व माल्यापर्ण कर उनका सत्कार किया, इस अवसर पर बाबा जी नाम पर सड़क के नामकरण के शिलापट का लोकार्पण किया और कहा कि जिस प्रकार पढा लिखा न होंकर भी बाबा सहदेव ने बिरहा की दुनिया के बेताज बादशाह रहे यह अपने आपमे एक अदभुद ही है जहां एक एक शब्दों को चयनित कर गीत में पिरोने का काम होता है अगर बाबा जी यह काम कर अपने को स्थापित किया यह निश्चित रूप से ईश्वरीय कृपा ही था उनके साथ आज भी उनके द्वारा लिखे हुए गीत को गाकर लोगो को रिझाने के व इस परंपरा को जिंदा रखने का जो काम गायकी की दुनिया से जुड़े लोग कर रहे है यह कहा जा सकता है कि बाबा जी मरकर भी अमरत्व को प्राप्त हो गए, श्याम बाबू ने कहा हम सबको उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए कि सफ़लता व विफलता सोच का विषय है हम मान लें तो हार है ठान ले तो जीत है बाबा जी का जीवन हमे यही प्रेरणा देती है कि अपने आपको को शून्य से शिखर तक पहुचाने की कल्पना को अगर सकार करना है तो बस लक्ष्य तय करने भर की देरी है सफलता अपने मेहनत और जुनून को हरा नही सकता आपके कदम में उसे आना ही पड़ेगा
इस अवसर पर विशिस्ट अतिथि के रूप में समाजसेवी धरमवीर बग्गा,शहीद मेमोरियल ट्रस्ट से जुड़े विद्याराम विश्वकर्मा की पूरी टीम,दशरथ,रंजीत वर्मा,मण्डल अध्यछ दान बहादुर यादव,विजयपाल,सरफराज अहमद मौजूद रहे

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *