रोजा गांव चीनी मिल द्वारा किसान संगोष्ठी का आयोजन रोजा गांव चीनी मिल द्वारा किसान संगोष्ठी का आयोजन
दिनेश कुमार वैश्य बाबा बाजार मवई अयोध्या/ बलरामपुर चीनी मिल लि0 की इकाई रोजा गांव द्वारा ग्राम मांगी चादपुर जोन गेट प्रथम में शरद... रोजा गांव चीनी मिल द्वारा किसान संगोष्ठी का आयोजन

दिनेश कुमार वैश्य

बाबा बाजार मवई अयोध्या/ बलरामपुर चीनी मिल लि0 की इकाई रोजा गांव द्वारा ग्राम मांगी चादपुर जोन गेट प्रथम में शरद कालीन गन्ना बुवाई हेतु वर्तमान में लगने वाले लाल सड़न व अन्य रोग से संबंधित तथा सीड (बिया) बदलाव विषय पर बृहद किसान संगोष्ठी काआयोजन किया गया। जिसमें क्षेत्र के सैकड़ों गन्ना की खेती करने वाले किसानों ने शिरकत किया।गोष्ठी की अध्यक्षता अरविंद मास्टर के द्वारा किया गया।संगोष्ठी को संबोधित करते हुए चीनी मिल इकाई रोजा गांव के महाप्रबंधक गन्ना इकबाल सिंह ने उपस्थित कृषकों को शरद कालीन गन्ना बोआई के बारे में विधवत जानकारी दी और कहा कि
गन्ना की खेती करने वाले समस्त किसान भाई शरद कालीन गन्ना बुवाई हेतु अच्छी प्रजाति का गन्ना बिया जैसे को0 0118 की बुवाई करें तथा अधिक से अधिक लाभ ले सकें चूंकि 0238 गन्ना प्रजाति में लाल सड़न बीमारी आने के कारण उन्हें सीड का बदलाव अवश्य करें तथा दर्शकों को बेसिक कोटा एवं मोबाइल नंबर अपडेशन के बारे में बताते हुए जानकारी दी गई कि इस वर्ष गन्ने की तौल मोबाइल पर प्राप्त एस एमएस के माध्यम से की जाएगी इसलिए सभी किसान अपना सहीमोबाइल दर्ज कराएं साथ ही गन्ना मूल्य के भुगतान के बारे में जानकारी दी गयी तथा शेष गन्ना मूल्य भुगतान जल्द ही कर दिए जाने के बारे में बताया गया।सहायक महाप्रबंधक गन्ना ए के एस बघेल ने उपस्थित कृषको को सट्टा प्रदर्शन के बारे में जानकारी दें तथा फ्री कैलेंडर के बारे में जानकारी देते हुए बताया की कृषक अपना फ्री कैलेंडर सभी समिति से प्राप्त कर समिति पर आयोजित तीन दिवसीय मेले में आवश्यक सुधार की इ आर पी के माध्यम से कराने के बारे में बताया गया कृषकों को शरद कालीन गन्ना बुआई केवल ट्रेंच विधि से करने तथा बीच में अन्तः फसल के रूप में लाही, आलू,लहसुन,चना एवं मसूर लेकर अतिरिक्त आमदनी प्राप्त करने के बारे में
विधवा की जानकारी देते हुए जागरूक किया गया को0 0238 में लगने वाले लाल सड़न रोग के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी तथा यह रोग गन्ने में कैसे लगता है इसके क्या क्या लक्षण हैं वह इस रोग से रोकथाम के क्या उपाय के साथ-साथ वृहद रूप से 20 बदलाव करने के लिए कृषकों को जानकारी उपलब्ध कराई गई तथा यह भी बताया गया कि जो गन्ने के खेत शरद कालीन गन्ने की बुवाई 20% से अधिक दर्शित हैं उनमें एक फसल खान की लेने के बाद फिर आगामी शरद कालीन गन्ने की बुवाई कर सकते हैं में उपस्थित शिक्षकों को अच्छी प्रजाति का बीज गन्ना नर्सरी से लेकर लगाने तथा उसका शत प्रतिशत शोधन हेक्सटॉप तथा इमिडाक्लोप्रिड से करने की तैयारी के समय अंतिम जुताई से 2 लीटर ट्राइ कोडरमा 4 से 5 कु0 सड़ी हुई गोबर की खाद्य मिलावट किधर से प्रयोग करने हैं बताया गया साथ ही सीड का बदलाव के क्रम में को0 0118 प्रजाति जो भी हो रही है अधिक से अधिक क्षेत्रफल में लगाने हेतु प्रेरित किया गया तथा शरद कालीन का गन्ना बुवाई में चीनी मिल द्वारा उपलब्ध कराई जाने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी दी।अन्त में उपरोक्त गोष्ठी में जोनल प्रभावी अजीत कुमार राय ने उपस्थित कृष को का आभार व्यक्त करते हुए अच्छी बीज की उपलब्धता हेतु संपर्क स्थापित करने के लिए कृषकों को जानकारी देते हुए कृषक गोष्ठी का समापन किया गया।गोष्ठी में चीनी मिल के फील्ड स्टाफ अनूप कुमार,हरिश चंद्र शुक्ला,प्रदीप कुमार शुक्ला आदि कर्मचारी मौजूद रहे

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *