केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी
केंद्र सरकार द्वारा लाए गए किसान विरोधी 3 अध्यादेशो की वापसी की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन जनपद अयोध्या द्वारा जनपद के कई... केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए किसान विरोधी 3 अध्यादेशो की वापसी की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन जनपद अयोध्या द्वारा जनपद के कई मार्गों को जाम करके प्रधानमंत्री को संबोधित 5 सूत्री ज्ञापन अधिकारियों को सौंपा गया
भारत सरकार द्वारा लाए गए किसान विरोधी 3 अध्यादेशो के वापसी की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय सचिव घनश्याम वर्मा के नेतृत्व में फैजाबाद -अंबेडकर नगर मार्ग को मया विकासखंड के सामने जाम करके प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन प्रशासन द्वारा नामित प्रशासनिक अधिकारी खंड विकास अधिकारी मया डॉ सुभाष चंद्र वर्मा को 5 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा गया इस कार्यक्रम में जिला संगठन मंत्री/ तहसील प्रभारी शोभाराम यादव महेंद्र वर्मा जगदीश यादव मोहम्मद अली रमेश पांडे ओम नारायण वर्मा भागीरथी वर्मा देवी प्रसाद वर्मा आदि सैकड़ों लोग उपस्थित रहे
सोहावल तहसील में रौनाही थाने के सामने nh28 फैजाबाद लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग को जिला अध्यक्ष नन्हे सिंह के नेतृत्व में जाम करके ज्ञापन सौंपा गया इस कार्यक्रम में दशरथ सिंह केदार सिंह जगन्नाथ पटेल देवराज वर्मा संतराज सहित कई दर्जन लोग शामिल रहे
रुदौली तहसील में मवई मार्ग को तहसील अध्यक्ष अमरेश यादव केशव राम यादव शंकर पाल पांडे कामता प्रसाद वर्मा रामू चंद विश्वकर्मा आदि लोगों ने जाम कर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा
मिल्कीपुर तहसील में तहसील अध्यक्ष राजेश मिश्रा के नेतृत्व में वेद प्रकाश पांडे बाबूराम तिवारी रामसुमेर भारती सिद्धू भारती नाथूराम यादव आदि लोगों ने फैजाबाद रायबरेली मार्ग जाम कर उप जिला अधिकारी को ज्ञापन सौंपा
बीकापुर तहसील में तहसील अध्यक्ष संतोष वर्मा के नेतृत्व में पिपरी अंबेडकर नगर मार्ग को तारुन विकासखंड के सामने जाम करके उप जिलाधिकारी बीकापुर को ज्ञापन सौंपा इस कार्यक्रम में राम शुभम भारती रामगोपाल मौर्य राजमणि दुबे शिवराम शर्मा सहित कई दर्जन भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता उपस्थित रहे
भाकियू कार्यकर्ताओं द्वारा पूरे जोश खरोश में केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई और किसान विरोधी तीनों विधायकों की वापसी की मांग की गई भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय सचिव घनश्याम वर्मा ने देश के प्रधानमंत्री से मांग किया है कि ऐसा कानून बनाया जाए जिससे न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम की खरीदारी पर दंडित करने की व्यवस्था हो तथा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट पूरी तरह लागू की जाए और आगामी पेराई सत्र के लिए गन्ना मूल्य कम से कम ₹450 प्रति कुंतल निर्धारित किया जाए तथा कृषि को आवारा पशुओं जंगली सूअरों वनरोजों बंदरों से बचाया जाए

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *