पूंजीपतियों के हितों के लिए काम कर रही सरकार: समाजवादी पार्टी पूंजीपतियों के हितों के लिए काम कर रही सरकार: समाजवादी पार्टी
अयोध्या ।खेती को बर्बाद होने से तथा मजदूरों को बंधुआ मजदूर बनने से बचाने के लिए कृषि और श्रमिक कानूनों को वापस लिया जाय... पूंजीपतियों के हितों के लिए काम कर रही सरकार: समाजवादी पार्टी

अयोध्या ।खेती को बर्बाद होने से तथा मजदूरों को बंधुआ मजदूर बनने से बचाने के लिए कृषि और श्रमिक कानूनों को वापस लिया जाय ।समाजवादी पार्टी की जिला और महानगर कमेटी ने आज जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपकर खेती को बचाने की तथा श्रमिकों को बंधुआ मजदूर बनाने वाले कानून को रद्द करने की मांग की ।समाजवादी पार्टी ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि भाजपा सरकार किसानों से खेती का मालिकाना हक छीन लेना चाहती है , मंडियों को धीरे धीरे समाप्त करना और मिनिमम सपोर्ट मूल्य भी नहीं देना चाहती है । भाजपा सरकार पूर्णतया पूंजीपतियों के हितों के लिए काम कर रही है ।लंबे संघर्षों के बाद किसानों को जो आजादी मिली थी वह कांट्रेक्ट खेती से समाप्त हो जाएगी । भाजपा शासनकाल में हजारों किसान अपनी जान गवां चुके हैं , गन्ना किसानों का अभी तक 13 हजार करोड़ रुपया बकाया है । भाजपा सरकार की नीतियों से देश की संपत्ति निजी हाथों में सौंप दी जा रही है । श्रमिक कानूनों से मजदूरों का हित प्रभावित होने जा रहा है तथा वो बंधुआ मजदूर बन जायेगा । समाजवादी पार्टी ने किसानों और श्रमिकों के हितों की सुरक्षा के लिए राज्य में इन कानूनों को लागू नहीं करने की मांग की । सपा प्रवक्ता चौधरी बलराम यादव ने बताया कि जिला और महानगर के संयुक्त नेतृत्व में सपा राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व कैबिनेट मंत्री अवधेश प्रसाद , जिला अध्यक्ष गंगासिंह यादव , पूर्व राज्यमंत्री तेज नारायण पांडेय पवन , एम एल सी श्रीमती लीलावती कुशवाहा , पूर्व विधायक अभय सिंह , जिला महासचिव बख्तियार खान , महानगर अध्यक्ष श्यामकृष्ण श्रीवास्तव , महासचिव हामिद जाफर मीसम , छोटेलाल यादव , एजाज अहमद , के के पटेल , अनूप सिंह , जयसिंह यादव , सरोज यादव , मोहम्मद अपील बबलू , संजय सिंह, दूध नाथ यादव, आभाष कृष्ण कान्हा , शुऐब खान आदि ने जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को सम्बंधित ज्ञापन सौंपा जिसे ए डी एम वैभव मिश्रा ने प्राप्त किया ।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *