खेतों में जलभराव से सूख गई को. 0238 प्रजाति गन्ना की फसल खेतों में जलभराव से सूख गई को. 0238 प्रजाति गन्ना की फसल
डॉ ए एस विशेन/प्रेम प्रकाश कुशीनगर अधिक उत्पादन व परता की चाह में अधिकांश किसानो ने अपने खेत में गन्ने की अगेती प्रजाति को... खेतों में जलभराव से सूख गई को. 0238 प्रजाति गन्ना की फसल

डॉ ए एस विशेन/प्रेम प्रकाश

कुशीनगर

अधिक उत्पादन व परता की चाह में अधिकांश किसानो ने अपने खेत में गन्ने की अगेती प्रजाति को 0238 को बोया। लेकिन इस वर्ष अत्यधिक बरसात से खेतों में जलभराव के चलते इस प्रजाति में रेड राट रोग लग गया। खेत की अस्सी प्रतिशत फसल सूख जाने से किसान बर्बादी के कगार पर हैं। पीड़ित किसानों ने मुआवजा दिलाने जाने की मांग की है। बताते चलें कि यह रोग कोलेटो ट्राइकम हल्केटम नामक फफूंद द्वारा लगता है। लगातार अधिक वर्षा होने के कारण अधिकांश खेतों में पानी लगा हुआ है, जो इस रोग को फैलाने में सहायक हो रहा है। किसान बकाया गन्ना मूल्य भुगतान न होने से तो जूझ ही रहे थे, भारी वर्षा के कारण हुए जलजमाव और गन्ने में लगने वाले रोग रेड राट (काना रोगा, गन्ने का कैंसर, ललका कैंसर) ने गन्ने की फसल को सुखा दिया है। बड़े पैमाने पर गन्ना फसल के सूखने के बावजूद सरकार की ओर से अभी तक किसी तरह की मदद की घोषणा नहीं हुई है। किसान अच्युतानंद पाण्डेय, अशोक राय, केदार शर्मा, मनोज गुप्ता, रविन्द्र ठाकुर, नरेन्द्र राय, ध्रुवदेव राय, ओमप्रकाश गोंड़, हरिहर चौहान, राधेश्याम गोंड़, दिनेश कुशवाहा, बाज़ारू सोनी, रामाशंकर कुशवाहा आदि ने मुआवजा दिलाने की मांग की है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *