गांव में पुलिस के दस्तक से सहम उठते हैं ग्रामीण गांव में पुलिस के दस्तक से सहम उठते हैं ग्रामीण
डॉ  ए एस विशेन/प्रेम प्रकाश कुशीनगर के तरयासुजान थाना क्षेत्र के रामपुर बंगरा में हुए दोहरे हत्या काण्ड के बाद संभावित कार्यवाईयों को देखते... गांव में पुलिस के दस्तक से सहम उठते हैं ग्रामीण

डॉ  ए एस विशेन/प्रेम प्रकाश
कुशीनगर के तरयासुजान थाना क्षेत्र के रामपुर बंगरा में हुए दोहरे हत्या काण्ड के बाद संभावित कार्यवाईयों को देखते हुए ग्रामीणों में भगदड़ का माहौल है पुलिस के नाम की दस्तक से ग्रामीणों का रूख खेतों के तरफ देखा जा रहा है जबकि महिलाएं अपने घरों में दुबकने को मजबूर है।गौरतलब हो कि स्थानीय थाना क्षेत्र के इस गांव में 7सितंबर के सुबह दोहरे हत्या काण्ड में शिक्षक को गोली मारने वाले युवक को ग्रामीणों ने गोलबंद होकर लाठी डंडों से पीट पीट कर मौत के घाट उतार दिया था। पुलिस ने कुल 450अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई के संदेश दे दिए हैं। जिससे ग्रामीणों में तनाव व्याप्त है। गांव के अधिकतर युवा तो घर छोड़कर पलायन कर चुके हैं बहुतेरे रिस्तेदारी के शरण में हैं। गांव में भ्रमण से सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां वर्तमान समय में बच्चे,बुढ़े और महिलाओं का बोलबाला है।सहमे जुबान लोग यह भी कहते सुने जा रहे हैं कि कार्रवाई हो ही जाती तो भी सुकून मिलता दिन तो दिन है रात में भी पुलिस के गाड़ीयों की आवाज सुनकर लोग गन्ने के खेतो के बीच पहुंच जा रहे हैं। कुछ शरारती लोग पुलिस के नाम का उद्घोष कर भागते लोगों से मज़ा लेने में भी परहेज नहीं करते। कुल मिलाकर घटना के बाद से ही गांव में पीएसी कैंप पर है और लोग दूसरे ठिकानों पर पश्चाताप और अपनों के साथ कार्रवाई का भय लोगों को अन्दर से झकझोर कर रख दिया है।इस संबंध में ग्राम प्रधान योगेन्द्र सिंह ने बताया बचे खुचे लोगों में घटना के प्रति दुख व्याप्त है लगातार किसी न किसी बहाने से लोग गांव से बाहर रहना चाहते हैं। संभावित कार्रवाई से गांव में भय व्याप्त है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *