जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न
अयोध्या 29 अगस्त /अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आज जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न... जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न

अयोध्या 29 अगस्त /अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आज जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न हुई। इस बैठक में जनपद के जनप्रतिनिधियो ने भाग लिया। इस बैठक का मुख्य उद्देश्य विकास कल्याण, निर्माण, सिचाई, जल निगम, पंचायत, उद्योग, समाज कल्याण आदि विभाग जो किसी न किसी रूप से जनता के लिए विकास कार्यक्रम सम्पादित कर रहे है उनके कार्यो को जनप्रतिनिधियो के समन्वय के साथ बेहतर ढंग से पूरा करना है। इस बैठक में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा द्वारा किये गये विकास कार्यो का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया गया तथा विस्तृत विवरण मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रथमेश कुमार ने प्रस्तुत किया।
इस बैठक में सांसद लल्लू सिंह, अम्बेडकरनगर के सांसद रीतेश पाण्डेय,   विधायक गोसाईगंज इन्द्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू, मिल्कीपुर बाबा गोरखनाथ, बीकापुर विधायक प्रतिनिधि अमित सिंह के अतिरिक्त सदर विधायक के प्रतिनिधि, रूदौली विधायक के प्रतिनिधि, जिला पंचायत अध्यक्ष के प्रतिनिधि सहित इस समिति के नामित अन्य जनप्रतिनिधियो अधिकारियो तथा संबंधित विभागो के प्रतिनिधियो ने भाग लिया।
बैठक के प्रथम चरण में विद्युत विभाग से संबंधित विद्युत समन्वय समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में हुई इस बैठक में विद्युत आपूर्ति, विद्युत बिलो का भुगतान एवं विद्युत स्पर्शघात से मृतको की समस्याओ पर विचार किया गया। गोसाईगंज के विधायक श्री तिवारी द्वारा उनके विधान सभा क्षेत्र के ग्रामो के 05 मृतको का प्रकरण उठाया गया जिसमेें सुमित कुमार ग्राम बबुआपुर का प्रमुख था जिसमें विद्युत विभाग के अधिकारियो द्वारा फोन न उठाने एवं जनप्रतिनिधियो के जवाब न देने का प्रकरण था। विद्युत बिलो के भुगतान एवं विद्युत आपूर्ति की समस्याओ पर विचार विर्मश हुआ जिसमें सांसद ने कहा कि इस विभाग के अधिकारी शासन के मानक शहरी क्षेत्र में 24 घण्टा, तहसील क्षेत्र में 22 घण्टा एवं ग्रामीण क्षेत्र में 18 घण्टे विद्युत आपूर्ति का मानक पूरा करे एवं जनप्रतिनिधि द्वारा उठाये गये बिन्दुओ पर समयबद्ध कार्यवाही करे। इसी प्रकार मिल्कीपुर के विधायक गोरखनाथ एवं विधायक प्रतिनिधि अमित सिंह ने विद्युत आपूर्ति संबंधी बिलो के भुगतान के भुगतान का मामला उठाया जिसमें कहा कि विद्युत आपूर्ति किया जाये तथा बिल का भुगतान भी होगा लेकिन कोई भुगतान हेतु दबाव न बनाया जाये बल्कि आम जनमानस को भुगतान हेतु प्रेरित किया जाये। जिलाधिकारी ने व्यवस्था दिया कि जनप्रतिनिधियो के पत्रो का उत्तर समय से दिया जाये एवं विद्युत विभाग में क्षेत्रीय अधिकारी अपने-अपने फीडर केन्द्र पर रहे एवं नियंत्रण कक्ष बनाकर आम जनमानस की समस्याओ का समयबद्ध निस्तारण किया जाये।
बैठक के अगले चरण में इस समिति की विकास संबंधी बिन्दुओ पर विस्तृत चर्चा की गई जिसमें जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने सभी जन प्रतिनिधियो का स्वागत करते हुए कहा कि जो आप लोगो के सुझाव एवं निर्देश होंगे उसका समय से पालन किया जायेगा तथा मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि विगत बैठक 23 नवम्बर 2019 में अनुपालन आख्या प्रस्तुत करते हुए बिन्दुवार बैठक प्रारम्भ किया जाये। इस बैठक में महात्मा गाॅधाी ग्रामीण रोजगार गाारण्टी योजना, ग्रामीण अजीविका मिशन योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, स्वच्छ भारत मिशन (नगरीय), राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पाइप पेयजल योजना, आॅगनवाड़ी केन्द्रो का निर्माण, मध्यान भोजन योजना, भूमि संरक्षण कार्यक्रम, नमामि गंगे कार्यक्रम, अमृत योजना एवं पार्को का निर्माण, दिव्यांगजन सशक्तिकरण कार्यक्रम, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, समग्र शिक्षा अभियान, प्रधानमंत्री स्वरोजगार सृजन कार्यक्रम, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना, मिशन अन्त्योदय योजना आदि योजनाओ का जनप्रतिनिधियो एवं संबंधित अधिकारियो के साथ विचार विमर्श किया गया। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में जो सड़के शामिल है तथा कुछ पूरा हो गयी है जिसमे मया बाजार, आमानीगंज आदि प्रमुख सड़क है। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि 127 कि0मी0 की प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत डीपीआर तैयार किया गया है उसे राज्य सरकार के पास भेजा गया है वहाॅ से अनुमोदन होकर भारत सरकार को भेजा जायेगा। इस सांसद श्री रीतेश पाण्डेय ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना या अन्य जो प्रमुख योजनाएं है उसमें जनप्रतिनिधियो के प्रस्ताव को लेकर शामिल किया जाये तब उसको अंतिम रूप से शासन को भेजा जाये एवं जनप्रतिनिधियो से भी मदद लिया जाये। इसी प्रकार विधायक श्री खब्बू तिवारी, श्री गोरखनाथ एवं श्री अमित सिंह ने बात कही जिसका अनुमोदन स्थानीय सांसद श्री लल्लू सिंह ने किया तथा कहा कि विकास के प्रस्ताव बनाने में स्थानीय विधायक एवं सांसद के विचार अवश्य लिये जाये तथा मौके पर विभागीय अधिकारी भ्रमण कार्यक्रमो में भी जनप्रतिनिधियो को विकास कार्यक्रमो का निरीक्षण कराये। विधायक मिल्कीपुर श्री गोरखनाथ ने विगत बैठक 23 नवम्बर का एक मामला उठाया जिसमें प्राथमिक विद्यालय पाण्डेय पोखर विकास खंड मिल्कीपुर के तत्कालीन निर्माण प्रभारी रामलहूक यादव के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराई गयी थी जिसमें बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा जाॅचकर श्री यादव से जो पूर्व प्रधानाध्यापक थे इनसे वसूली किया जाना था पर अभी तक बेसिक शिक्षाधिकारी द्वारा इतने समय गुजर जाने के बाद कृत कार्यवाही से अवगत न कराना जन प्रतिनिधि के प्रश्नो का कोई सम्मान नही है। इस पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी से स्थिति स्पष्ट करने को कहा तथा परियोजना निदेशक से मौके पर जाॅच करने को भी कहा तथा जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि इस प्रकरण में कार्यवाही की गई उसकी सूचना जनप्रतिनिधि को भी दिया जाये तथा ऐसे प्रकरण जो जन प्रतिनिधियो द्वारा संज्ञान में लाये  जाते है उनका समयबद्धता के साथ निस्तारण किया जाये तथा उसकी सूचना जनप्रतिनिधियो के साथ-साथ जिलाधिकारी कार्यालय को भी उपलब्ध कराई जाये।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *