सरकार ने अयोध्या के साथ किया छल: तेज नारायण सरकार ने अयोध्या के साथ किया छल: तेज नारायण
अयोध्या । समाजवादी पार्टी ने केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा अयोध्या को छलने व ठगने का आरोप लगाया है ।पूर्व मंत्री तेज नारायण पांडे... सरकार ने अयोध्या के साथ किया छल: तेज नारायण

अयोध्या । समाजवादी पार्टी ने केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा अयोध्या को छलने व ठगने का आरोप लगाया है ।पूर्व मंत्री तेज नारायण पांडे पवन ने कहा की एक ओर तो अयोध्या में भूमि पूजन करके अयोध्या को अंतर्राष्ट्रीय मानकों पर लाने की बात कही जाती है तो वहीं दूसरी ओर अयोध्या से तमाम सुविधाओं को केंद्र व प्रदेश सरकार छीनने में लगी हुई है। श्री पांडे ने कहा कि 5 अगस्त को एक ओर अयोध्या में प्रधानमंत्री मोदी राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम कर रहे थे तो वही उनके जाते ही अयोध्या से तीन महत्वपूर्ण ट्रेनों की सुविधा छीन ली गई और उसका रूट रायबरेली की ओर डायवर्ट कर दिया गया ।श्री पांडे ने कहा कि दून एक्सप्रेस, किसान एक्सप्रेस व कामाख्या गांधी धाम एक्सप्रेस ऐसी ट्रेनें हैं जो अयोध्या के लोगों के लिए अति महत्वपूर्ण थी लेकिन केंद्र सरकार व रेल मंत्रालय ने अयोध्या वासियों के साथ छल करते हुए इन तीनों ही ट्रेनों का रूट बदल दिया जिससे अयोध्या वासियों को अब आने वाले दिनों में तमाम समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। श्री पांडे ने कहा कि दोनो ही सरकार की कथनी और करनी में पूरी तरह से अंतर है और इन दोनों ही सरकारों की सच्चाई है अब जनता के सामने आ गई है । पूर्व मंत्री ने कहा कि  अयोध्या वासियों को किसी भी कीमत पर कोई भी नुकसान पहुंचने नहीं दिया जाएगा और जिस किसी ने भी यह कुचक्र करने की कोशिश की समाजवादी पार्टी उसे मुंहतोड़ जवाब देगी, जरूरत पड़ी तो इस समस्या को लेकर समाजवादी पार्टी सड़क पर भी उतरेगी ।श्री पांडे ने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में जनता भाजपा को सबक सिखाने के लिए तैयार बैठी है ,प्रदेश में अगली सरकार समाजवादी पार्टी की बनना तय है। सपा प्रवक्ता चौधरी बलराम यादव ने बताया कि अयोध्या से तीनों ट्रेनों के रूट बदलने को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं और अयोध्या वासियों में जबरदस्त गुस्सा है, आने वाले दिनों में सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम उसे बहुत भारी पड़ेगा।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *