गर्भ गृह पर अनुष्ठान शुरू, तीन दिन तक घरों व मठ-मंदिरों में रहकर पूजन करने की अपील गर्भ गृह पर अनुष्ठान शुरू, तीन दिन तक घरों व मठ-मंदिरों में रहकर पूजन करने की अपील
समूची अयोध्या रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के उल्लास में डूबी नजर आ रही है। घर-घर में तैयारी और उल्लास का माहौल है। भूमिपूजन... गर्भ गृह पर अनुष्ठान शुरू, तीन दिन तक घरों व मठ-मंदिरों में रहकर पूजन करने की अपील

समूची अयोध्या रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के उल्लास में डूबी नजर आ रही है। घर-घर में तैयारी और उल्लास का माहौल है। भूमिपूजन शुरू हो चुका है। सड़कों-गलियों से लेकर छतों पर केसरिया पताके लहरा रही हैं। दीवारों पर रामायणकालीन दृष्य रामनगरी की अलौकिकता बयां कर रहे हैं।अयोध्या में सोमवार शाम से दीपोत्सव की तैयारी है। यहां दीवाली जैसा माहौल बनाया जाएगा, इस दौरान प्रशासन की अपील पर रामनगरी के खास 25 स्थानों तैयारी है, जबकि व्यापारी व समाजसेवी संगठनों ने फैजाबाद में भी सभी तिराहे-चौराहों पर दीपोत्सव की तैयारी के साथ लाइटिंग भी सजाई है। शहर में लाखों दिए जलाए जाएंगे। वहीं आम लोग भी अपने घरों के बाहर दिए जलाएंगे। श्रीरामजन्मभूमि में सजावट से लेकर खास दीपोत्सव की तैयारी अवध विवि की छात्राओं के जिम्मे हैं। रामलला के मंदिर के साथ तबाह हुए दर्जनभर मंदिरों को भी ट्रस्ट ने सजाने की जिम्मेदारी ली है।
रामनगरी में लोगों को तीन दिन तक अपने घरों व मठ-मंदिरों में रहकर पूजन करने की अपील की गई है। उन्हें भूमिपूजन के हर कार्यक्रम को लाइव दिखाने-सुनाने के लिए तीन हजार लाउडस्पीकर लगाए गए हैं। जिन्हें सोमवार से श्रीरामजन्मभूमि के अनुष्ठान से जोड़ दिया गया है। इसके पहले इनके जरिए 25 स्थलों से भजन, सुंदरकांड आदि का प्रसारण किया जा रहा है। प्रशासन ने भी 20 स्थानों पर एलईडी के जरिए लाइव प्रसारण की तैयारी की है।
श्री राम जन्मभूमि के गर्भ ग्रह पर सोमवार को तीन दिवसीय अनुष्ठान शुरू हुआ। वैदिक आचार्यों ने गणपति पूजा के साथ सुबह 8बजे पूजन के शुरुआत की।
 आने वाले तीन दिन तक चलने वाले श्रीराम मंदिर भूमि पूजन का अनुष्ठान शुरू हो गया है। गौरी गणेश पूजन के साथ श्रीराम जन्मभूमि में अनुष्ठान की शुरूआत की गई। 21 पुरोहितों ने यहां पर गौरी गणेश का आह्वान कर शिलान्यास से पहले राममंदिर भूमिपूजन के अनुष्ठान की शुरुआत कर दी है। 
 अनुष्ठान ट्रस्ट की ओर से भूमिपूजन के संयोजक आचार्य इंद्रदेव मिश्र ने जानकारी दी कि गणपति पूजा के बाद पहले दिन सोमवार को अनुष्ठान शुरू होगा, इसके बाद पंचागं पीठ पूजन होगा। अगले दिन रामार्चा पूजा होगी, फिर प्रधानमंत्री मोदी के आने से पहले 5 अगस्त को वेदी पूजन संपन्न करा लिया जाएगा। वे 12 बजे तक श्रीरामजन्मभूमि के गर्भगृह आएंगे, इसके बाद संकल्प लेने के बाद शुभमुहूर्त में ठीक 12 बजकर 15 मिनट 15 सेंकंड के बाद 32 सेंकड में पहली ईंट रखेंगे।
इसी बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अयोध्या पहुंचने वाले हैं। साकेत कालेज से हनुमानगढ़ी और श्रीरामजन्मभूमि तक पीएम पांच अगस्त को जिस मार्ग से गुजरेंगे वहां के दोनों तरफ घर-दुकान से लेकर धर्मस्थल तक पीले रंग से रंग दिए गए हैं। श्रीरामजन्मभूमि के मुख्य कार्यक्रम स्थल को भव्य सजाया जा रहा है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *