उल्लास में डूबी राम नगरी उल्लास में डूबी राम नगरी
आचार्य स्कंददास अयोध्या। पांच सौ वर्षों बाद राम भक्तों की मुराद 5 अगस्त को पूरी होने जा रही है भगवान श्रीराम जी के मंदिर... उल्लास में डूबी राम नगरी

आचार्य स्कंददास

अयोध्या। पांच सौ वर्षों बाद राम भक्तों की मुराद 5 अगस्त को पूरी होने जा रही है भगवान श्रीराम जी के मंदिर निर्माण के शिलान्यास को लेकर अयोध्या में तैयारियां जोरों पर हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर शिलान्यास के लिए 5 अगस्त को अयोध्या पहुंच रहे हैं। प्रशासन पूरी तरीके से मुस्तैद नजर आ रहा है जगह-जगह बैरिकेडिंग कर रहा है ताकि कोई प्रशासनिक चूक ना होने पर वही खुफिया विभाग भी सतर्क है। सुरक्षा व्यवस्था जिम्मेदारी में प्रशासन ने अपनी पूरी ताकत झुकती है। भूमि पूजन की तैयारी को लेकर अयोध्या को पीले रंग से रंग दिया गया है जिस प्रकार पिंक सिटी के नाम से जयपुर मशहूर है उसी तरह अयोध्या इतिहास के पन्नों में गोल्डन सिटी के रूप में मशहूर होने को तैयार है कलाकार राम नगरी को त्रेता युग इन चित्रों से सजा चुके हैं। समूची अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है और संवारा जा रहा है पूरा शहर झंडों से सजाया जा रहा है विदित हो कि 5 अगस्त को राम नगरी अयोध्या राममय नजर आएगी क्योंकि वर्षों बाद 5 अगस्त को राम मंदिर के भूमि पूजन में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं भूमि पूजन में शामिल होने आ रहे हैं। अयोध्या में चारों तरफ खुशियों का बोलबाला है साधु संत मठ मंदिरों में भजन कीर्तन के द्वारा अपनी खुशियों का इजहार कर रहे हैं। तैयारी ऐसी चल रही है कि मानो एक बार पुनः भगवान श्री राम का वनवास खत्म हुआ है और वह अयोध्या पधार रहे हैं । दिवाली की तर्ज पर अयोध्या को आलोकित करने की तैयारी चल रही है। ऐसे में भूमि पूजन के दिन समूची अयोध्या के मंदिरों सहित घर-घर में दीपक जलेंगे श्री राम जन्मभूमि परिसर में सवा लाख दीपक जलाए जाएंगे जिसकी तैयारी जोरों पर चल रही है इसकी जिम्मेदारी डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय ने स्वयं ले रखी है। इसके अलावा नगर निगम ने नगर निगम के आयुक्त नीरज शुक्ला की माने तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मनसा अनुसार शहर को भूमि पूजन के दिन दीपों से आलोकित करने की पूरी तैयारी है। अयोध्या को सजाने संवारने के साथ-साथ साफ-सफाई का भी काम जोरों पर है रेलवे पुल के प्रवेश द्वारों पर भव्य कलाकृतियां बनाई जा रहे हैं नया घाट के प्रवेश द्वारों पर भी कलाकार अपनी कलाकृतियों के द्वारा विभिन्न भावों को भी उकेर रहे हैं। सदियों के बाद अयोध्या का गौरव लौटने वाला इस ऐतिहासिक छण को राम नगरी सहित समूचे देश एक पर्व की तरह देख रहा है। विश्वविद्यालय श्री राम जन्मभूमि परिसर सहित शहर के 25 प्रमुख स्थलों पर सवा लाख दीपक जल आएगा ऐसे में राम नगरी की अध्यात्मिकता अपने शिखर पर होगी। 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11:30 बजे पहुंचेंगे और रामलला सहित हनुमानगढ़ी का दर्शन करेंगें। अयोध्या नगर निगम के महापौर से ऋषिकेश उपाध्याय ने बताया कि पीएम मोदी जी का कार्यक्रम तय है और वह 11:30 बजे अयोध्या पहुंचेंगे उनका हेलीकॉप्टर साकेत महाविद्यालय में उतरेगा। भूमि पूजन का कार्यक्रम 2 घंटे का होगा जिसमें 1 घंटे का कार्यक्रम उनके भाषण का होगा।
वही राम मंदिर ट्रस्ट के भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होने वाले अतिथियों की सूची पीएमओ कार्यालय को भेज दी गई है हालांकि इस कार्यक्रम में लगभग 200 मेहमानों के शामिल होने की बात बताई जा रही है। प्रशासन ने यातायात को सुगम बनाने हेतु ट्रेफिक एडवाइजरी भी जारी कर दी है। तो वही मीडिया एडवाइजरी भी जारी कर दी गई है ऐसे पत्रकारों को कवरेज में कोई व्यवधान न आए मीडिया सेंटर ने पत्रकारों को सुविधा एवं भोजन की विशेष व्यवस्था दी गई है राम नगरी के सभी मठ मंदिर जय श्री राम के जय घोष से गुंजायमान है और राम भक्त मंगल गीतों के माध्यम से अपनी खुशियों का इजहार कर रहे हैं। कार सेवा में अहम भूमिका निभाने वाले संतोष दुबे जो कार सेवा के दौरानगोलियों से घायल हुए थे उन्होंने कहा कि 5 अगस्त को भगवान राम के मंदिर के शिलान्यास के साथ बलिदानी कार सेवकों की आत्मा को परम शांति मिलेगी जिन्होंने अपना लहू राम मंदिर निर्माण के लिए बहाया है वह कहते हैं कि मंदिर निर्माण से बेहद खुशी है मंदिर भव्य और गगनचुंबी होना चाहिए।

Times Todays News

Your email address will not be published. Required fields are marked *