नारायणी नदी ने लिया विकराल रूप, एक की मौत नारायणी नदी ने लिया विकराल रूप, एक की मौत
डॉ ए एस विशेन/प्रेम प्रकाश मौसम विभाग के हाई अलर्ट और सोमवार को देर रात्रि बाल्मीकि नगर बैराज से चार लाख से अधिक पानी... नारायणी नदी ने लिया विकराल रूप, एक की मौत

डॉ ए एस विशेन/प्रेम प्रकाश

मौसम विभाग के हाई अलर्ट और सोमवार को देर रात्रि बाल्मीकि नगर बैराज से चार लाख से अधिक पानी छोड़े जाने के कारण नारायणी नदी में तिसरी बार उफान पर आने के कारण खड्डा तहसील क्षेत्र के दर्जनों गांव पानी मे डूव गये है वही वसन्तपुर निवासी एक 45 वर्षीय व्यक्ति की पानी मे डूव जाने से मौत हो गयी है बाढ की त्रासदी सुनकर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक कुशीनगर ने एस डी आर एफ की टीम को लगाकर स्वयं डिस्चार्ज का निरीक्षण किया।
बताते चले कि सोमवार की रात से बाल्मीकि नगर वेराज से पानी का बढ़ना शुरू हुआ जो घटते घटते 4लाख32हजार250लाख क्यूसेक तथा 1:00 बजे दिन में 4लाख19हजार500 लाख क्यूसेक हो गया जिसके चलते नारायणपुर शिवपुर हरिहरपुर बसंतपुर मरचहवा बाल गोविंद छपरा बकुलादह शाहपुर सालिगपुर और महादेवा सभी गांव पानी में डूब गए यह देख ग्रामीण अपने पशुओं और अपने सामानों को लेकर सुरक्षित ठिकानों की ओर भागने लगे निचले इलाकों के लोगो को
बाढ़ से बचाने के लिए लोग जगह-जगह एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम रवाना हो गई है। इसी क्रम में मंगलवार की सुबह लखनऊ से आयी एसडीआरएफ की टीम जो कुशीनगर क्षेत्र के रेता क्षेत्र में बसे ग्रामीणों को बाढ़ से बचाव हेतु बिहार के नौरंगिया गांव पहुंची। और वहां से मरचहवा, बसंतपुर, शिवपुर, हरिहरपुर, नारायणपुर बाल गोविंद छपरा इन सभी क्षेत्रों में पानी का दबाव ज्यादा है वहां से ग्रामीणों को सुरक्षित निकालने के लिए प्रयासरत है वही वसन्तपुर निवासी 45 वर्षीय अंबाला पुत्र कुशवाहा जो पानी से निकलने की कोशिश कर रहा था वही नाले में डूब कर के मर गया। अभी तक जलस्तर की बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। अभी आज मंगलवार को बाल्मीकि नगर गंडक से 4 लाख 38 हजार 500 कियूसिक 10 बजेam तक पानी छोड़ा गया है जो आगे और भी बढ़ सकता है ।सभी क्षेत्र हाई अलर्ट पर है जितने भी नदी किनारे गांव है सभी अपने ऊंचे ऊंचे जगह पर जा रहे हैं वही छितौनी वांध के स्पर व ठोकरो पर दवाव काफी बढ गया है बाढ खण्ड के एस डी ओ राजेन्द्र पासवान सहित अभियंता स्पर सी व वीरभार ठोकर सहित दवाव पर राहतकार्य कराने मे लगे हुए है उनका कहना है कि हाई लेवल कमेटी द्वारा प्रस्तावित कार्य पर शासन द्वारा धन नही मिलने के कारण बंधे पर कोई मरम्मत कार्य नहीं कराया गया।फिर भी बन्धे और ठोकर को बचाने के लिए सभी संसाधन हमारे पास मौजूद हैं किसी भी कीमत पर बंधे और ठोकरो की रक्षा की जाएगी । साथ ही तहसील बार खड्डा डॉ एसके राय ने बताया कि बसंतपुर निवासी अंबाला पुत्र हरक कुशवाहा की बेहोश होने की सूचना हमें मिली है जब तक कोई चिकित्सक प्रमाणित ना कर दे हम कैसे कह दें कि उसकी मौत हो गई है जबकि ग्रामीण उसकी मौत हो जाने की बातों को बता रहे हैं उसे राजस्व कर्मी हॉस्पिटल ले जा रहे हैं

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *