एमपी के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार हुआ विकास दुबे एमपी के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार हुआ विकास दुबे
कानपुर एनकाउंटर में आठ पुलिसकर्मियों की शहादत का आरोपी कुख्यात विकास दुबे आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने गुरुवार को विकास दुबे... एमपी के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार हुआ विकास दुबे

कानपुर एनकाउंटर में आठ पुलिसकर्मियों की शहादत का आरोपी कुख्यात विकास दुबे आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने गुरुवार को विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया है। उज्जैन के कलेक्टर आशीष सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि विकास दुबे महाकाल मंदिर जा रहा था, जब उसे सुरक्षाकर्मियों ने पहचान लिया। उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी। 

दबाव देने पर उसने अपनी पहचान उजागर की और स्वीकार किया कि वह विकास दुबे ही है। उन्होंने बताया कि विकास दुबे को गिरफ्तार कर लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है। खबर है कि विकास दुबे ने सुनियोजित तरीके से अपनी गिरफ्तारी दी है। उसने गुरुवार को महाकाल मंदिर में जाकर पर्ची कटाई, जिसके बाद मंदिर के सुरक्षाकर्मी ने उसे पकड़ लिया।
 

मालूम हो कि कानपुर में कुख्यात अपराधी विकास दुबे के एनकाउंटर के दौरान हुए खूनी संघर्ष में सीओ सहित पुलिस के आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। अपराधियों ने पुलिस बल को चारों ओर से घेरकर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी थी और आठ जवानों को मौत के घाट उतार दिया था। 

इसके बाद से ही यूपी समेत कई राज्यों की पुलिस विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दे रही थी। बीच में विकास के दिल्ली एनसीआर में छिपे होने की भी खबर आई थी, लेकिन वह एक बार फिर पुलिस को चकमा देकर भाग गया था।

मालूम हो कि 2 जुलाई को आठ पुलिसकर्मियों की निर्मम हत्या के बाद से ही विकास दुबे फरार चल रहा था। उसपर पांच लाख रुपये के इनाम की भी घोषणा की गई थी। इसके साथ ही पुलिस जगह-जगह पोस्टर लगाकर उसकी तलाश में जुटी हुई थी।

आज सुबह उज्जैन महाकाल मंदिर में उसने पूरी योजना के तहत अपनी गिरफ्तारी दी है। पहले वह सामान्य लोगों की तरह पूजा की लाइन में लगा। उसके बाद अचानक मंदिर परिसर में चिल्ला-चिल्ला कर खुद को विकास दुबे बताया।इसके बाद मंदिर परिसर में तैनात सुरक्षा गार्ड ने उसे पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस मंदिर पहुंची और उसे गिरफ्तार कर फ्रीगंज इलाके में कंट्रोल रूम लेकर गई।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *