पत्रकारों की हत्या, उत्पीड़न पर जताया रोष पत्रकारों की हत्या, उत्पीड़न पर जताया रोष
शाह आलम अंबेडकरनगर । जनपद अम्बेडकरनगर के तहसील क्षेत्र में बरहीं एदिलपुर में पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष शाह आलम खान... पत्रकारों की हत्या, उत्पीड़न पर जताया रोष

शाह आलम

अंबेडकरनगर । जनपद अम्बेडकरनगर के तहसील क्षेत्र में बरहीं एदिलपुर में पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष शाह आलम खान के नेतृत्व में जिला कार्यालय पर पत्रकारों की एक बैठक संपन्न हुई। जिसमें प्रताप गढ़ जनपद में टीवी पत्रकार *सुलभ श्रीवास्तव* की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत होने पर दुख व शोक संवेदना व्यक्त की गई। खबर दिखाने से नाराज शराब माफियाओं ने प्रतापगढ़ जिले के जिला संवाददाता टीवी पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की हत्या किए जाने का आरोप उनकी पत्नी रेणुका श्रीवास्तव ने लगाया है हत्यारों के विरुद्ध कोई प्रभावी कार्यवाही नहीं की गई पुलिस प्रशासन की घोर लापरवाही किए जाने की निंदा की गई?

पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के उपाध्यक्ष जगदंबा प्रसाद श्रीवास्तव ने कहा कि आए दिन पत्रकारों पर जुल्मोसितम, शोषण हो रहा है पत्रकारों की कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं है खबर दिखाने, सत्य लिखने पर उनकी हत्या हो जाती है या फर्जी केस में फंसाया जाता है उनकी आवाज दबाने के लिए साम/ दाम /दंड /भेद/ सब अपनाए जा रहे हैं। शासन प्रशासन में बैठे लोग मौन व्रत है जिस कारण आए दिन पत्रकारों का उत्पीड़न बढ़ता जा रहा है शराब माफिया, बालू खनन, भू माफियाओं के हौसले दिन प्रति दिन बढ़ते जा रहे हैं अवैध बालू खनन की खबर दिखाने पर अंबेडकरनगर के *पत्रकार लोकपति त्रिपाठी* को भी जान का खतरा बना हुआ है उन्होंने भी अपनी शिकायत अंबेडकर नगर प्रशासन को दर्ज कराई है, देवानंद पांडे के इलाज में घोर लापरवाही की गई जिससे उनकी मृत्यु हुई, टीवी पत्रकार रोहित सरदाना की मृत्यु कोरोना काल में हुई शासन प्रशासन ने अभी तक कोई राहत उपलब्ध नहीं कराया जीता जागता उदाहरण है।

प्रतापगढ़ जनपद के सुलभ श्रीवास्तव टीवी चैनल के पत्रकार की इसलिए हत्या की गई उन्होंने शराब माफियाओं के काले कारनामों को टीवी चैनल के माध्यम से पर्दाफाश किया था जिससे लोग नाराज थे नाराजगी और अपने जान के खतरे को भापते/ देखते हुए सुलभ श्रीवास्तव ने *पुलिस महानिरीक्षक* प्रयागराज एवं *पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़* को 12 जून 2021 को आवेदन पत्र प्रस्तुत कर कहा था कि मेरे जान के पीछे लोग लगे हुए हैं कभी भी किसी भी समय मेरी हत्या हो सकती है उनके आवेदन पत्रों पर समय रहते पुलिस गंभीर हुई होती तो उनकी जान बचाई जा सकती थी। सुनील श्रीवास्तव की पत्नी रेणुका श्रीवास्तव ने पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाया है कि सुरक्षा व्यवस्था नहीं की गई जबकि घटना के पहले पुलिस प्रशासन को लिखित सूचना दी गई थी शराब माफियाओं से खतरा है दैनिक जनमोर्चा के पत्रकार सुनील सिंह एडवोकेट ने कहा मुख्यमंत्री राहत कोष से मृतक परिजन को कम से कम ₹50000 सरकारी नौकरी बच्चों की परवरिश किए जाने की मांग की है और पत्रकारों पर हो रहे उत्पीड़न को रोकने की मांग की है अंत में प्रदेश अध्यक्ष शाह आलम खान ने कहा कि जनपद अंबेडकर नगर में पत्रकारों पर जुल्म ढाया जा रहा है एसोसिएशन अंबेडकर नगर के जिलाध्यक्ष रिजवान खान,आनंद वर्मा, रमेश विश्वकर्मा, पुलिसिया कार्रवाई के शिकार हैं न्याय के लिए रमेश विश्वकर्मा की पत्नी थाना मैं धरने पर बैठी थी फिर भी उसे न्याय नहीं मिला शासन प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश इकाई अंबेडकर नगर जिला कोषाध्यक्ष शेष कुमार सिंह ने इस हत्या, उत्पीड़न की कटु शब्दों में निंदा की और कहा कि पत्रकारों पर हो रहे उत्पीड़न को रोका नहीं गया तो पत्रकार संगठन अपनी आवाज बुलंद करने के लिए और सच्चाई दिखाने के लिए तत्पर रहेगा।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *