एसडीएम के निर्देश पर पशु नहर से निकाले गए एसडीएम के निर्देश पर पशु नहर से निकाले गए
शेर बहादुर यादव अंबेडकर नगर। एसडीएम टांडा अभिषेक पाठक नहर में गिरे घुमंतू पशुओं की तारणहार की भूमिका में नजर आए। अराजक तत्वों द्वारा... एसडीएम के निर्देश पर पशु नहर से निकाले गए

शेर बहादुर यादव

अंबेडकर नगर। एसडीएम टांडा अभिषेक पाठक नहर में गिरे घुमंतू पशुओं की तारणहार की भूमिका में नजर आए। अराजक तत्वों द्वारा चार घुमंतू पशुओं को कुदा दिया गया था। वे 5 दिनों से नहर में पानी पीकर जिंदा थी।मीडिया के द्वारा सूचना उप जिलाधिकारी अभिषेक पाठक को मिली,तो उन्होंने गंभीरता से लेते हुए टांडा बी डी ओ को निर्देश दिया कि पशुओं को निकलवाए और गौशाला भिजवा दें।

बृहस्पतिवार को सफाई कर्मियों ने नहर में घुस कर चार पशुओं को किसी तरह बाहर निकाला। भूख से व्याकुल पशुओं को गौशाला भिजवाया। इस दृश्य को देखकर सभी ने उप जिला अधिकारी अभिषेक पाठक को एक अच्छा इंसान कहते हुए दिखे। गोवर्धनपुर के प्रधान सुनील यादव ने कहा कि जो जानवरों का दर्द समझे वह इंसान होता है।ऐसे अधिकारी बहुत ही कम मिलते हैं। बताते चलें कि जानवरों के लिए तारणहार की भूमिका में नजर आए।कितने फिक्र मंद है, आला हकीम,यह देखना हो तो सदरपुर मेडिकल कॉलेज के सामने ओदरा बड़ी नहर को आ जाइए, पांच दिनों से भूख प्यास से व्याकुल बेजुबान पशु विचारण कर रहे हैं, भूख प्यास से एक ने अपना दम एक ने दम तोड़ दिया। चार अभी भी सरजू मां का पानी पीकर अपनी भूख मिटा रहे है। ग्रामीणों ने इसकी सूचना दूरभाष बीडियो टांडा एवं गांव के प्रधान को दिया लेकिन अभी तक किसी ने इन बेजुबान जानवरों की सुध नहीं ली।जी हां! सत्ता में आसीन गौमाता के भक्त भाजपा की सरकार बैठी हो, गौ माता की हत्या पर हाय तोबा मचाने का काम करती, लेकिन वह विपक्ष में रहेगी तब करेगी, सत्ता मे बैठ जाएगी तो उसकी आंखों में गौ माता की हत्या नहीं दिखाई देती और ना ही उनकी बेबसी।

यह कड़वा सच, कहने को तो टांडा विधायक का संजू देवी के प्रतिनिधि श्यामा बाबू गुप्ता हिंदुओं की रहनुमाई करते हुए और गौमाता की हत्या पर समय-समय पर हाय तोबा मचाते हो, लेकिन ग्रामीणों की सूचना के बावजूद अब तक समुचित व्यवस्था नहर में गिरी बेजुबान पशुओं की व्यवस्था नहीं कर सके, शासन और प्रशासन पूरी तरह निरंकुश हो गया है बेजुबान जानवरों की देखरेख को लेकर कागजों में ही गौ माता की सेवा हो रही है।सरकार के भले ही भारी भरकम धन आवंटन करती हो, लेकिन प्रशासन में बैठे लोग धन का बंदरबांट करने में जुटे हुए हैं।उप जिलाधिकारी अभिषेक पाठक ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है।बी डी ओ टांडा से पशुओं को नहर से बाहर निकालने के लिए समुचित व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *