समाजवादी पार्टी:  जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की बढ़ी सरगर्मी समाजवादी पार्टी:  जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की बढ़ी सरगर्मी
सुशील मिश्रा अंबेडकर नगर । अंबेडकर नगर जिला पंचायत अध्यक्ष के साथ-साथ ब्लॉक प्रमुख चुनाव की तिथि ज्यों-ज्यों नजदीक आती जा रही है ,त्यों-त्यों... समाजवादी पार्टी:  जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की बढ़ी सरगर्मी

सुशील मिश्रा

अंबेडकर नगर । अंबेडकर नगर जिला पंचायत अध्यक्ष के साथ-साथ ब्लॉक प्रमुख चुनाव की तिथि ज्यों-ज्यों नजदीक आती जा रही है ,त्यों-त्यों राजनीतिक दलों में सरगर्मी तेज होने लगी है। जिले में जिला पंचायत अध्यक्ष का ताज किसके सिर पर बधेगा, किस पार्टी का जिला पंचायत पर दबदबा होगा , इसको लेकर भी चर्चाओं का दौर व जोड़ तोड़ का खेल शुरू हो गया है। प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के समर्थन से तो ज्यादा सदस्य चुनाव जीतकर नहीं आ सके हैं लेकिन उसी पार्टी से संबंध रखने वाले बडी संख्या में लोग निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीत चुके हैं। ऐसे में अप्रत्यक्ष रूप से समाजवादी पार्टी का पलड़ा तो भारी प्रतीत हो रहा है लेकिन पार्टी में चल रही आंतरिक गुटबाजी से यह एकजुटता बनी रह सकेगी, इसकी भी संभावना कम ही मानी जा रही है। पार्टी की जिला कमेटी की कार्यप्रणाली से कई सदस्य बेहद नाराज हैं तथा वह अपने स्तर से अध्यक्ष की कुर्सी हथियाने के लिए लोगों से संपर्क साधना शुरू कर दिए हैं । वही इसी पार्टी के एक बड़े नेता द्वारा भी अपने सजातीय व अन्य जिला पंचायत सदस्यों से मेल मुलाकात कर उनकी नब्ज टटोलने का कार्य भी तेजी के साथ किया जा रहा है। लगभग हर जिला पंचायत चुनाव में चर्चा में रहने वाले यह नेता जी एक बार फिर अध्यक्ष पद के केंद्र बिंदु में पहुंचने का प्रयास शुरू कर चुके हैं । मौजूदा जिला पंचायत के सदन में यादव वर्ग के 12 सदस्य निर्वाचित हुए हैं। पिछड़ी जाति के 21 कई सदस्यों में 12 केवल यादव हैं। 41 सदस्यों वाले जिला पंचायत के सदन में यह 12 सदस्य अपनी महत्वपूर्ण भूमिका दर्ज करा सकते हैं । फिलहाल इनमें दिख रही एकजुटता भी कुछ अलग रंग खिला सकती है। 1995 से जिले का गठन होने के बाद अभी तक जिला पंचायत की कुर्सी पर कभी भी यादव वर्ग का प्रतिनिधित्व नहीं हो सका है। इससे पूर्व फैजाबाद जिले में समाहित रहे इस जिले से हीरालाल यादव जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुके हैं। जनपद सृजन के बाद से यह पहला मौका है जब जिला पंचायत के सदन में एक खास बिरादरी का दबदबा देखने को मिल रहा है। अंबेडकर नगर के जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर अब तक गैर यादव बिरादरी का ही कब्जा रहा है। इसे देखते हुए यादव वर्ग इस बार किसी भी कीमत पर जिला पंचायत अध्यक्ष पद गैर यादव बिरादरी में जाने देने को तैयार नहीं दिखता। ऐसी स्थिति में यह स्पष्ट है कि इस बार जिला पंचायत अध्यक्ष पद की जंग यादव बनाम गैर यादव में होगी। समाजवादी पार्टी ने अप्रत्यक्ष रूप से अंजू यादव, सूरज यादव, अजीत यादव को टटोलना शुरू कर दिया है लेकिन अजीत यादव की तेजतर्रार छवि पार्टी नेताओं को रास नहीं आ रही है। वही निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जीत चुकी प्रतिमा यादव भी इस पद के लिए अपना दावा ठोक रही है लेकिन उनकी भी तेज छवि पार्टी नेताओं को हजम होना आसान नहीं हो रहा है। समाजवादी पार्टी के नेता ऐसे मोहरे पर दांव लगाना चाहते हैं जो भविष्य में उनके लिए खतरा ना बन सके । अजीत यादव व प्रतिमा यादव का नाम इसीलिए पार्टी स्तर पर दौड़ से बाहर बताया जा रहा है। अब देखना यह है कि समाजवादी पार्टी किस मोहरे पर अपना दांव लगाती है तथा दर्जन भर की संख्या में जिला पंचायत का चुनाव जीत चुके यादव वर्ग के लोग क्या उस नाम पर अपना समर्थन व्यक्त करते हैं।यहां यह जानना भी महत्वपूर्ण होगा कि जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में समर्थन पत्र के बंटवारे की तरह ही कहीं समाजवादी पार्टी का यह दांव भी उल्टा ना पड़ जाए। ऐसे में पार्टी की जरा सी चूक उसके लिए भारी पड़ सकती है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *