कोरोना और बरसात ने ईट उद्योग को तबाह किया : अफसर आलम कोरोना और बरसात ने ईट उद्योग को तबाह किया : अफसर आलम
प्रफुल्ल श्रीवास्तव इल्तिफातगंज, अंबेडकरनगर।पहले करो ना और अब बरसात ने मारा कच्ची ईट को तबाह कर दिया, ईट उद्योग निर्माता समिति इन दिनों दोहरी... कोरोना और बरसात ने ईट उद्योग को तबाह किया : अफसर आलम

प्रफुल्ल श्रीवास्तव

इल्तिफातगंज, अंबेडकरनगर।पहले करो ना और अब बरसात ने मारा कच्ची ईट को तबाह कर दिया, ईट उद्योग निर्माता समिति इन दिनों दोहरी मार झेल रहा है।यही हाल रहा तो आने वाले दिनों में ईट उद्योग पूरी तरह तबाह हो जाएगा।उक्त बातें ईट उद्योग निर्माता समिति के सदस्य अफसर आलम ने कहीं।उन्होंने कहा कि सरकार की उदासीनता ईट उद्योग को आने वाले दिनों में पूरी तरह खत्म कर देगा। गौरतलब है कि को रोना काल मे ईट उद्योग पूरी तरह तबाह होने की नौबत पर है। को रोना काल में ईट उद्योग निर्माता को जहां मजदूरों की किल्लत को लेकर काफी सामना करना पड़ा। वहीं दूसरी तरफ कोयला बुरादा लकड़ी को लेकर जहां काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। हालांकि ईट उद्योग निर्माता किसी तरफ ईट उद्योग को संचालन करने में कामयाब रहे। लेकिन सरकार की तरफ से ईट उद्योग निर्माता की सुधि नहीं ली गई। इसका मलाल ईट उद्योग निर्माता समिति के सदस्य अफसर आलम को है।कहां की जनपद में लगभग 500 से ऊपर ईट उद्योग संचालन होते हैं। शासन और प्रशासन के लोगों ने एक बार भी ईट उद्योग निर्माता से कोई भी परेशानी पूछने की जहमत नहीं उठाई। जिसका नतीजा रहा कि 200 से ऊपर ईट उद्योग भट्ठे बंद हो गए। ईट उद्योग भठे से जुड़े मजदूर बेरोजगार हो गए और वह भुखमरी की कगार पर हैं। ईट उद्योग का बंद होने का सबसे बड़ा कारण है कि गैर प्रांत के मजदूर जहां इनके ईट उद्योग के संचालन के लिए नहीं आ पाए।वहीं कुछ भठो को कोयला भूसी लकड़ी समय से लॉकडाउन के कारण उपलब्ध नहीं हो सका।वही जो कुछ बचा था बारिश हो जाने से पूरी तरह ईट उद्योग की कमर टूट गई। श्री अफसर आलम ने कहा कि सरकार की तरफ से ईट उद्योग निर्माता को सरकार की तरफ से जीएसटी और टैक्स में छूट दी जाए। जिसे कच्ची ईंट उद्योग को राहत मिल सके। उन्होंने कहा कि अगर सरकार की तरफ से कोई राहत ईट उद्योग को उपलब्ध नहीं कराई गई तो ईट उद्योग पूरी तरह खत्म हो जाएगा। ऐसे में रोजगार देने वाला ईट उद्योग खुद बेरोजगार हो जाएगा। उन्होंने कहा कि ईट उद्योग मजदूरों को रोजगार देने का काम करता है। ऐसे में सरकार को कुछ राहत प्रदान करनी चाहिए। ईट उद्योग निर्माता समिति के अध्यक्ष श्री राम वर्मा और निर्माता समिति के जिला महासचिव इसरार आलम जल्द ही बैठक कर प्रतिनिधिमंडल अपर जिलाधिकारी से इस संबंध में मिलेगा।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *