फैज़ाबाद की आवाज में छपी खबर का असर ,सात सफाई कर्मी निलंबित फैज़ाबाद की आवाज में छपी खबर का असर ,सात सफाई कर्मी निलंबित
प्रफुल्ल श्रीवास्तव केदार नगर,अंबेडकर नगर।कांधा गौशाला भाड सारी में सात पशुओं की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत संबंधी खबर फैजाबाद की आवाज समाचार पत्र में... फैज़ाबाद की आवाज में छपी खबर का असर ,सात सफाई कर्मी निलंबित

प्रफुल्ल श्रीवास्तव

केदार नगर,अंबेडकर नगर।कांधा गौशाला भाड सारी में सात पशुओं की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत संबंधी खबर फैजाबाद की आवाज समाचार पत्र में छपने के बाद प्रशासन हरकत में आया और पांच सफाई कर्मी निलंबित कर दिए। सरकार भले ही कान्हा गौशाला के संरक्षण मे भारी-भरकम धन आवंटित करती हो, लेकिन संचालन को लेकर सिर्फ बंदरबांट ही किया जा रहा है।जिसकी जीती जागती तस्वीर टांडा विकासखंड ग्राम सभा भाडसारी का है।शुक्रवार को ग्रामीणों को गौशाला में चार पशुओं की मरने की सूचना मिली।बात तब बिगड़ गई जब सफाई कर्मी मैजिक पर मृतक पशुओं को लादेने की फिराक में था। क्योंकि सचिव के इशारे पर पशुओं को ठिकाने लगाने की फिराक में पिकअप को बुलाया था और वह मृतक चार पशुओं को लादने लगा।ग्रामीणों ने पिक अप को घेर लिया लाठी-डंडों से, सफाई कर्मी को बंधक बना लिया।

सफाई कर्मी रामजीत यादव ने दूरभाष पर प्रभारी सचिव अरुण चतुर्वेदी को दूरभाष पर जानकारी दी। सूचना पर पहुंचे सचिव अरुण चतुर्वेदी को ग्रामीणों ने जमकर खरी-खोटी सुनाई और जमकर विरोध में नारा भी लगाया।गांव के विनय वर्मा ने कहा कि तीन पशु पहले से मृतक अवस्था में पशुशाला मे सचिव के द्वारा दफन कर दिया गया। बरसात होने के कारण अब वह पूरी तरीके से खुल गया है और दुर्गंध पूरे गांव में फ़ैल रही है। वहीं एडीओ पंचायत योगेंद्र सिंह सचिव के बचाव मुद्रा में उतर आए हैं।एडीओ पंचायत जबरदस्ती मृतक पाए गए सात पशुओं को पुलिस की अभिरक्षा में सौंपी गए, बीते दिनों 16 पशुओं का बताने पर तुले हुए हैं।

सवाल यह उठता है कि अगर दो दिन पहले पशु सौपे गए, अगर वह गंभीर रूप से घायल थी तो उनका इलाज कांधा गौशाला की प्रभारी पशु चिकित्सक के द्वारा क्यों नहीं कराया गया। निश्चित तौर से एडीओ पंचायत लीपापोती में जुटे हुए हैं।सुरेंद्र चौहान ने कहा कि जबकि हकीकत यह है कि पशुओं की मौत भूख और इलाज के अभाव में हुई।भजन वर्मा की माने तो अब तक 400 पशुओं की मौत भूख और इलाज के अभाव में हो चुकी है। इसके बावजूद भी हर बार सत्ता में गहरी पैठ होने के कारण प्रभारी सचिव अरुण चतुर्वेदी बच जाता है। श्यामलाल चौहान ने कहा कि पशु क्रूरता अधिनियम के तहत दोषी अधिकारियों और सफाई कर्मियों पर मुकदमा दर्ज कर विभागीय कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

जिला अधिकारी को शिकायती पत्र बच्चा राम वर्मा राम सागर वर्मा सियाराम वर्मा श्यामलाल चौहान श्रवण चौहान अमित वर्मा अंकुर वर्मा आदि ने हस्ताक्षर युक्त सौंप कर कार्रवाई की मांग की।सीडीओ घनश्याम मीणा ने कहां की पुलिस के द्वारा पशु वध वाहन को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।पुलिस के द्वारा 16 बैल पशुशाला में पुलिस ने कांदा गौशाला की अभिरक्षा में दी थी जो काफी चोट हील थी।प्रथम दृष्टि 6 सफाई कर्मी और सचिव को निलंबित किया गया है। जांच की जा रही है मौत का कारण पता लगाया जा रहा है रिपोर्ट आने पर आगे की कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। जांच रिपोर्ट आने के उपरांत दोषी अधिकारियों और सफाई कर्मचारी पर दोष सिद्ध होने पर पशु क्रूरता के मुकदमा दर्ज कराया जाएगा इसके साथ ही विभागीय कार्रवाई भी सुनिश्चित की जाएगी। इन्हे किया गया निलंबित रात्रि पाली में शब्बीर अहमद, मोहम्मद इब्राहिम ,शमशेर अहमद, संतराम ,राम रूप वर्मा यह सफाई कर्मी गौशाला की व्यवस्था के लिए तैनात रहे। जिन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।उक्त कार्रवाई एसडीएम टांडा अभिषेक पाठक की की रिपोर्ट पर की गई है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *