भाजपा विधायक ने  बदहाल स्वास्थ्य सेवाओ को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा चार सूत्रीय मांग पत्र भाजपा विधायक ने  बदहाल स्वास्थ्य सेवाओ को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा चार सूत्रीय मांग पत्र
परशुराम वर्मा रुधौली बस्ती जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं की टूटती सांसो पर रुधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा... भाजपा विधायक ने  बदहाल स्वास्थ्य सेवाओ को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा चार सूत्रीय मांग पत्र

परशुराम वर्मा

रुधौली बस्ती

जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं की टूटती सांसो पर रुधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कई गंभीर सवाल उठाए है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में विधायक ने चार मांगो को उठाया है। उन्होंने जिला अस्पताल व कैली ओपेक हॉस्पिटल में संसाधनो की कमी पर प्रश्न चिन्ह उठाते हुए कहा है कि मरीज रोज दम तोड़ रहे है। लेकिन सुबिधाये नही है। कोरोना संकट काल मे आक्सीजन का टोटा है। वही जीवन रक्षक दवाओं के अभाव में लोग काल के गाल में समा जा रहे है तो अस्पताल में मरीजो के परिजनों का उत्पीड़न किया जा रहा है।विधायक ने मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से गंभीर रोगों के इलाज हेतु मदद करने का भी जिक्र किया। विधायक ने सम्बधित पत्रावलियों का जिला स्तर से आख्या रिपोर्ट भेजे जाने में की जा रही लापरवाही का भी आरोप लगाया है।उनकी मांगों में ओपेक चिकित्सालय कैली में आक्सीजन प्लांट शुरू करने का आग्रह किया है। जिससे आक्सीजन के अभाव में लोगो की मौत न हो। उन्होंने वर्तमान एसआईसी आलोक कुमार वर्मा पर मरीजों के तीमारदारों से दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया। विधायक ने नगर पंचायत रूधौली के एक सभासद के भाई का जिक्र करते हुए लिखा है कि उसने अपने भाई प्रशान्त कुमार को गत 28 अप्रैल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, आक्सीजन की व्यवस्था खुद किया किन्तु एसआईसी आलोक कुमार वर्मा द्वारा आक्सीजन सिलेण्डर निकालने का प्रयास किया गया। परिजनों के विरोध करने पर वापस गए किन्तु मरीज को दूसरा सिलेण्डर नहीं मिल पाया जिसके कारण 30 मई को उसकी मौत हो गयी।विधायक ने अस्पतालों में अव्यवस्था और मनमानी के अनेक उदाहरण देते हुए इसका उल्लेख किया है। उनका कहना है कि कोविड वार्ड में मरीजों को समुचित सुविधा नही मिल पा रही है। उन्होंने जनपद मुख्यालय पर 3.47 करोड़ रूपये लागत से जीवन रक्षक आक्सीजन पाइप लाइन , फायर फायटिंग, 200 सिलेन्डर के लिए प्रतिदिन आक्साीजन उत्पादन का प्रोजेक्ट चार वर्ष बीत जाने के बाद भी पूरा नहीं हो सका है। 8.45 करोड़ की लागत से बनने वाले पाइप लाइन की परियोजना अभी लम्बित है।उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि जो भी आक्सीजन पाइप लाइन से सप्लाई दी जा रही है वह 20 वर्ष पुरानी है यह बहुत बड़ी लापरवाही है।पत्र के माध्यम से विधायक ने आग्रह किया है कि अधूरे कार्य को शीघ्र पूरा कराया जाय। इसके साथ ही कोरोना से संक्रमित हुए मरीजों के इलाज हेतु जांच किट, आक्सीजन, टीका, बेड आदि संसाधन उपलब्ध कराये जाय।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *