रुधौली ब्लाक की तीनों जिला पंचायत सीटों पर भाजपा का सूपड़ा साफ रुधौली ब्लाक की तीनों जिला पंचायत सीटों पर भाजपा का सूपड़ा साफ
परशुराम वर्मा रूधौली, बस्ती। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत हुए चुनाव में विकास खण्ड रूधौली के अंतर्गत आने वाली जिला पंचायत सदस्य के तीनों... रुधौली ब्लाक की तीनों जिला पंचायत सीटों पर भाजपा का सूपड़ा साफ

परशुराम वर्मा

रूधौली, बस्ती। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत हुए चुनाव में विकास खण्ड रूधौली के अंतर्गत आने वाली जिला पंचायत सदस्य के तीनों सीटों पर भाजपा समर्थित प्रत्याशियों को करारी हार का सामना करना पड़ा है। जिला पंचायत सदस्य की एक सीट पर बसपा, एक सीट पर सपा तथा एक सीट पर निर्दल प्रत्याशी ने कब्जा जमाया। रुधौली प्रथम से निर्दल प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े राजेंद्र प्रसाद चौधरी 6169 पाकर प्रथम स्थान पर रहे। जबकि भाजपा समर्थित प्रत्याशी मंजू सिंह श्रीनेत को 4881 मत मिला। मंजू सिंह के लिए यह सीट प्रतिष्ठा बनी हुई थी। जनपद की सबसे हॉट सीटों में गिनी जाने वाली इस सीट से मंजू सिंह का हारना एक सबक के रूप में है। वहीं 2015 के चुनाव में राजेंद्र प्रसाद चौधरी इसी सीट पर बसपा के समर्थन से चुनाव लड़े थे और हार गये थे। रुधौली द्वितीय से सपा समर्थित प्रत्याशी नौशाद अहमद को कुल 8039 मत प्राप्त हुए। वहीं भाजपा समर्थित प्रत्याशी राजकुमार चौधरी को 5321 मत पाकर दूसरे स्थान पर रहे। नौशाद अहमद रूधौली के जुझारू व्यक्तियों में गिने जाने वाले मोहम्मद शकील के सुपुत्र है। वही रुधौली तृतीय से अतीक अहमद 6848 मत पाकर पुनः जिला पंचायत सदस्य निर्वाचित हुए है। जबकि भाजपा समर्थित प्रत्याशी पूर्व प्रधान संघ अध्यक्ष दिलीप कुमार गौड़ को कुल 3961 मत प्राप्त हुआ।

रुधौली ब्लाक के आरओ पर लगा मतपत्र गायब करने का आरोप*त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव विकास खण्ड रुधौली में आरओ के रूप में तैनात मोहम्मद सादुल्लाह पर उस वक्त गंभीर आरोप लगा जब रुधौली प्रथम से विजयी प्रत्याशी राजेंद्र प्रसाद चौधरी के समर्थकों ने उन पर मतपत्र का बंडल गायब करने का प्रयास करने का आरोप लगाया। समर्थकों ने एक वीडियो भी जारी किया था जिसमें आरओ मोहम्मद सादुल्लाह मतपत्र के बंडल के साथ एक मतगणना काउंटर के पास खड़े दिखाई पड़ रहे है। राजेन्द्र प्रसाद के समर्थकों के विरोध के बाद मतपत्र के बंडल को रखते हुए नजर आ रहे हैं। इस संबंध में आरओ मो. सादुल्लाह का कहना है कि सभी एआरओ गिनती करके जाने वाले थे। मैं मतपत्रों का बंडल समेटने में मदद करने की कोशिश कर रहा था। मेरे ऊपर लगाए गए सारे आरोप निराधार है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *