शिक्षकों के लिए जानलेवा बना पंचायत चुनाव प्रशिक्षण शिक्षकों के लिए जानलेवा बना पंचायत चुनाव प्रशिक्षण
दुर्गा दत्त पांडेय अम्बेडकर नगर।महज कागजी सुरक्षात्मक प्रबंधों के दावे के साथ 12 अप्रैल से 19 अप्रैल तक चला पंचायत चुनाव प्रशिक्षण अब शिक्षकों... शिक्षकों के लिए जानलेवा बना पंचायत चुनाव प्रशिक्षण

दुर्गा दत्त पांडेय

अम्बेडकर नगर।महज कागजी सुरक्षात्मक प्रबंधों के दावे के साथ 12 अप्रैल से 19 अप्रैल तक चला पंचायत चुनाव प्रशिक्षण अब शिक्षकों एवम कर्मचारियों के लिए साक्षात यमराज साबित हो रहा है।
गौरतलब है कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में जिले के लगभग तीन हजार बूथों पर तैनात होने वाले चुनाव कर्मियों के प्रशिक्षण हेतु मुख्य विकास अधिकारी के नेतृत्व में विगत 12 से 19 अप्रैल तक राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज,याकूबपुर में प्रशिक्षण आयोजित किया गया जिसमें जिले के 30 माध्यमिक व राजकीय शिक्षक बतौर मास्टर ट्रेनर कुल 13 कमरों में प्रतिदिन तीन पालियों में प्रशिक्षण प्रदान करने हेतु जिला मजिस्ट्रेट द्वारा नियुक्त किये गए थे।
दिलचस्प बात तो यह है कि परियोजना निदेशक प्रदीप कुमार पांडेय व भूमि संरक्षण अधिकारी राजमंगल चौधरी स्वयम को प्रशिक्षण प्रभारी बताकर जहां किसी व्यवस्था से पल्ला झाड़ लेते थे वहीं जिला विकास अधिकारी वीरेंद्र सिंह व बेसिक शिक्षा अधिकारी अतुल सिंह महज सैरसपाटे के तौर पर प्रशिक्षण स्थल पर यदाकदा जाते थे।कार्मिक प्रभारी होने के कारण बीमार व मजबूर कार्मिकों को ड्यूटी से मुक्ति प्रदान करने का दायित्व भी इन्हीं दोनों का था।किंतु दोनों ही मुख्य विकास अधिकारी का बहाना बनाकर कार्मिकों को महज टरकाते रहते थे।यही नहीं जिला सहायक निर्वाचन अधिकारी,पंचस्थानी प्रभारी महेश चंद्र द्विवेदी द्वारा प्रशिक्षण स्थल पर कोविड बचाव हेतु किसी भी प्रकार के मापदंड के अनुपालन की कोई व्यवस्था नहीं की गयी,जोकि अब भारी पड़ती दिख रही है।
इस बाबत मास्टर ट्रेनर एवम अध्यक्ष उदयराज मिश्र के अनुसार 12 अप्रैल को प्रशिक्षण के प्रथम दिन न तो पेयजल की कोई व्यवस्था थी और न सेनेटाइजर की ।जब उन्होंने श्री द्विवेदी से सख्त लहजे में व्यवस्था करने की मांग की तो पेयजल की व्यवस्था तो हुई किन्तु पूरे प्रशिक्षण के दौरान थर्मल स्क्रीनिंग नहीं की गई।यही नहीं मास्टर ट्रेनर्स को जलपान तक नहीं दिया गया।श्री मिश्र ने चुनाव ड्यूटी के रूप में आयोजित इस प्रशिक्षण को अपने जीवन का सबसे घटिया आयोजन बताते हुए जिला प्रशासन को शिक्षकों एवम कर्मचारियों की मौतों का जिम्मेदाए बताया है।उन्होंने कहा है कि शिक्षक विधायक ध्रुवकुमार त्रिपाठी को सारी सूचनाएं भेजी जा रही हैं और यदि चुनाव बहिष्कार का निर्देश प्राप्त होगा तो माध्यमिक शिक्षक संघ,अम्बेडकर नगर जेल भरने का आह्वाहन कर देगा किन्तु चुनाव बहिष्कार से पीछे नहीं हटेगा।
ध्यातव्य है कि आज कोरोना से मास्टर ट्रेनर रईस अहमद खान,जोकि मो शफी नेशनल इंटर कॉलेज,हंसवर के प्रवक्ता थे का कोविड के चलते निधन हो गया।जबकि ग्राम स्वावलंबी इंटर कॉलेज ,रानिवां के शिक्षक ब्रह्मज्योति मिश्र व अशोक शुक्ल(दोनों पीठासीन अधिकारी) कोविड पॉजिटिव पाये गए हैं।इसीप्रकार भीटी में शिक्षक सत्य प्रकाश पांडेय सहित जिले के एक अन्य मास्टर ट्रेनर दिनेश चंद्र दुबे की तबियत भी तेज बुखार व जाड़े से खराब हो गयी है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *