जिंगल बेल अकादमी में आयोजित प्रदर्शनी में दिखी छात्रों की प्रतिभा जिंगल बेल अकादमी में आयोजित प्रदर्शनी में दिखी छात्रों की प्रतिभा
अयोध्या विद्यार्थियों के अन्दर छिपी प्रतिभा को निखारने हेतु समय-समय पर जिंगल बेल अकादमी में विभिन्न क्रियात्मक कार्यक्रम होते रहते हैं । इसी उद्देश्य... जिंगल बेल अकादमी में आयोजित प्रदर्शनी में दिखी छात्रों की प्रतिभा

अयोध्या विद्यार्थियों के अन्दर छिपी प्रतिभा को निखारने हेतु समय-समय पर जिंगल बेल अकादमी में विभिन्न क्रियात्मक कार्यक्रम होते रहते हैं । इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु जे बी अकादमी में कक्षा 6 से 8 तक की समेकित परियोजना तथा कक्षा 9 के छात्रों द्वारा सामाजिक विज्ञान प्रदर्शनी जबकि कक्षा 11 के मानविकी वर्ग द्वारा ‘अयोध्या की धरोहर’ विषय पर तैयार परियोजना प्रदर्शनी का आयोजन किया गया । प्रदर्शनी में कनिष्ठ वर्ग के विद्यार्थियों ने सभी अकादमिक विषयों व पाठ्य-सहगामी क्रियाओं को भी सम्मिलित किया ।

प्रातः 8.30 से अपराह्न 2 बजे तक आयोजित की गई इस प्रदर्शनी में कक्षा छः के छात्रों ने गेहूँ, हल्दी, चना व गुड़, कक्षा सात ने पिपरमेंट, मच्छर, फैज़ाबाद के शासक, हस्तशिल्प जबकि कक्षा आठ के छात्रों ने अयोध्या पर्यटन, अंग्रेजी भाषा की प्रयोगशाला, स्कूल वेबसाइट एवं ऑर्गेनिक लाइफ जैसे विषयों पर गहन अध्ययन करके चार्ट व प्रतिरूपों के माध्यम से अपनी बौद्धिक क्षमता का परिचय दिया । छात्रों ने अपने-अपने परियोजना विषय पर भाषायी कौशल के साथ कविता, कहानी व रोचक तथ्य भी प्रस्तुत किए । प्रदर्शनी में चना छीलने की विद्युत चालित मशीन, अयोध्या स्मार्ट सिटी व सोलर पैनल का प्रतिरूप, हल्दी से निर्मित साबुन व फेसपैक, हस्तशिल्प के अंतर्गत लकड़ी के खिलौने, पेंटिंग्स, मौनी, जूट से बनी वस्तुएँ, भाषा प्रयोगशाला के अंतर्गत अनेक रोचक व्याकरणिक खेल, कृत्रिम गहने इत्यादि आकर्षण के प्रमुख केंद्र रहे I नवीं कक्षा के छात्रों ने आपदा-प्रबंधन विषय पर लगभग 25 परियोजनाओं का प्रदर्शन किया I जिसमें भोपाल गैस त्रासदी, केदारनाथ जल-प्रलय, केरला-सुनामी, कोरोना महामारी, भुज भूकंप, होटल ताज की आतंकी घटना, ज्वालामुखी विस्फोट, जंगल की आग, भूस्खलन जैसे विषयों पर आयोजित प्रदर्शनी ने लोगों को आकर्षित किया । कक्षा 11 के मानविकी वर्ग के छात्रों द्वारा आयोजित प्रदर्शनी में अयोध्या की आध्यात्मिक, सांस्कृतिक व कला सम्बन्धी धरोहर को सहेजने का संकल्प साफ़ नज़र आया I इसके अंतर्गत स्थानीय खान-पान, वेश-भूषा, हस्त-कला, वास्तु-कला, चरण-पादुका मंदिर, कनक भवन, गुप्तार घाट के अनकहे तथ्य, राम की पैड़ी, धरोहर-यात्रा आदि विषयों को चार्ट एवं प्रतिरूपों के माध्यम से बखूबी प्रदर्शित किया गया ।

कार्यक्रम में मनूचा डिग्री कॉलेज की डॉ प्रज्ञा मिश्रा, गुरु नानक गर्ल्स कॉलेज की प्रधानाचार्या डॉ गरिमा गौतम तथा साकेत कॉलेज के डॉ जे.आर. शुक्ला ने निर्णायक की भूमिका निभाई । जबकि मुख्य शमन अधिकारी आर.के. राय, साकेत कॉलेज के डॉ परेश पाण्डेय, भवदीय पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य श्री एम डी ओझा, डॉ जी सी यादव, डॉ दिनेश मिश्र, श्री विजय कुमार पाण्डेय सहित यश विद्या मंदिर के शिक्षक आत्म प्रकाश त्रिपाठी पर्यवेक्षक की भूमिका में उपस्थित रहे ।

अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना के संगठन मंत्री श्री संजय ने छात्रों से संवाद करते हुए उनकी क्रियात्मकता की प्रशंसा की । जे बी एन एस समिति की निदेशक श्रीमती मंजुला झुनझुनवाला, जे बी अकादमी की प्रधानाचार्या श्रीमती रश्मि भाटिया, विशिष्ट अतिथि सुश्री अनुजा श्रीवास्तवा, उप-निदेशक श्री वी के जोशी सहित सभी शिक्षकों ने प्रदर्शनी का अवलोकन कर छात्रों को प्रोत्साहित किया I कार्यक्रम के संयोजन में वरिष्ठ समन्वयक के के मिश्रा, कनिष्ठ समन्वयक श्रीमती मंजू कुमार तथा समस्त शिक्षकों का सहयोग प्राप्त हुआ ।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *