एनटीपीसी टांडा में प्रचालन समीक्षा समूह बैठक एनटीपीसी टांडा में प्रचालन समीक्षा समूह बैठक
डॉ. मनी राम वर्मा एनटीपीसी टांडा ने अपनी 250 वीं प्रचालन समीक्षा समूह बैठक आयोजित की। बैठक की अध्यक्षता के श्रीनिवास राव, परियोजना प्रमुख... एनटीपीसी टांडा में प्रचालन समीक्षा समूह बैठक


डॉ. मनी राम वर्मा

एनटीपीसी टांडा ने अपनी 250 वीं प्रचालन समीक्षा समूह बैठक आयोजित की। बैठक की अध्यक्षता के श्रीनिवास राव, परियोजना प्रमुख (टांडा) ने की। एनटीपीसी टांडा के पहले परियोजना प्रमुख और पूर्व- क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक (उत्तरी क्षेत्र), आई बी पांडे को इस विशेष अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था। बैठक में टांडा सुपर थर्मल पावर स्टेशन के परिचालन और वित्तीय प्रदर्शन की समीक्षा की गई। इसके अतिरिक्त, कुछ मुद्दों और अपवाद बिंदुओं के साथ-साथ उनके निस्तारण पर भी व्यापक चर्चा की गई।
250 वीं प्रचालन समीक्षा समूह बैठक में टांडा सुपर थर्मल पावर स्टेशन की गहन समीक्षा की गयी। परियोजना प्रदर्शन की समीक्षा करने के अतिरिक्त इसका भी निरीक्षण किया गया की समस्त दिशा निर्देशों का उचित तरीके से पालन किया गया है। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया गया की सभी प्रणालियाँ क्रियात्मक हैं एवं उनका परिणाम संतोषजनक है। इस चर्चा के दौरान उन सभी उपायो पर भी प्रकाश डाला गया जिनके माध्यम से विभिन्न मुद्दों का त्वरित निपटारा किया जा सके और परियोजना के प्रदर्शन को और भी बेहतर बनाया जा सके।
सम्मानित अतिथि श्री पांडे जी को टांडा परियोजना के विकास के बारे में जानकारी दी गई। यह बताते चले कि एनटीपीसी प्रबंधन एवं एनटीपीसी के कर्मचारियों के समर्पित प्रयासों के कारण अपने अधिग्रहण से तीन से चार वर्षों के भीतर थर्मल पावर स्टेशन को एक शीर्ष प्रदर्शन स्टेशन में बदल दिया।
श्री पांडे जी ने अधिग्रहण के दौरान आने वाले मुद्दों के बारे में एक परियोजना प्रमुख के रूप में अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने आगे कहा कि एनटीपीसी प्रबंधन के संपूर्ण समर्थन, मानवीय दृष्टिकोण और त्वरित निर्णय ने टांडा को एक सफल कहानी बनाने में मदद की और अब इसके बारे में प्रमुख संस्थानों में केस स्टडी के रूप में भी पढ़ाया जाता है।
उन्होंने इस अवसर पर एनटीपीसी टांडा के प्रयासों और समर्पण की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि टीम द्वारा स्टेज 1 के प्रदर्शन को बनाए रखने के लिए किया गया काम सराहनीय है। उन्होंने स्टेज 2 की कमीशनिंग सफलता की भी सराहना की और इसे भारत की सर्वश्रेष्ठ इकाइयों में से एक माना। उन्होंने समग्र परियोजना और यूनिट 6 कमीशनिंग गतिविधियों की प्रशंसा की और एनटीपीसी टांडा को इसके भविष्य में सिंक्रोनाइजेशन के लिए शुभकामनाएं दी।
श्री पांडे जी ने नवसंस्थापित पांचवी इकाई और निर्माणाधीन 6ठी इकाई का निरिक्षण भी किया। ज्ञातव्य हो की एनटीपीसी टांडा सुपर थर्मल परियोजना की कुल संस्थापित छमता 1100 मेगावाट है जबकि 660 मेगावाट की 6ठी इकाई निर्माणाधीन है जिसके शीघृ ही सिंक्रोनाइज होने की संभावना है।
इस अवसर पर श्री एस के सिंह, महाप्रबंधक (ओ एंड एम), जे सेनशर्मा, महाप्रबंधक (ओ एंड सी), जे.एस. अहलावत, महाप्रबंधक (परियोजना), बी सी पोलई, महाप्रबंधक (अनुरक्षण), आर.के.सिंह, महाप्रबंधक (मेकैनिकल इरेक्शन) और एनटीपीसी टांडा के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *