इंटैक से संवरेगी अयोध्या की समृद्ध विरासत इंटैक से संवरेगी अयोध्या की समृद्ध विरासत
अयोध्या 5 मार्च 2021/ इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज एक गैर-लाभकारी धर्मार्थ संगठन है, जो सोसायटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 के तहत... इंटैक से संवरेगी अयोध्या की समृद्ध विरासत

अयोध्या 5 मार्च 2021/ इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज एक गैर-लाभकारी धर्मार्थ संगठन है, जो सोसायटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 के तहत पंजीकृत है। भारत की समृद्ध विरासत को संरक्षित करने एवं इसके प्रतिलोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से इंटैक(INTACH) की स्थापना 1984 में नई दिल्ली में की गई थीI जिसे 2007 में, संयुक्त राष्ट्र ने संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक और सामाजिक परिषद के साथ एक विशेष सलाहकार का दर्जा दिया।अयोध्या चैप्टर का निर्माण जनवरी 2021 में हुआ Iनव निर्मित अयोध्या चैप्टर की संयोजक श्रीमती मंजुला झुनझुनवाला ने बताया कि अयोध्या नगरी अपनी आध्यात्मिक व सांस्कृतिक विरासत के लिए पूरी दुनिया में जानी जाती हैI अब इस विरासत को संभालना, सहेजना व संरक्षित करना हम सबकी प्राथमिक जिम्मेदारी हैI  यहां के स्थानीय नागरिक होते हुए भी यदि हम लोग ही इसे अनदेखा करेंगे तो यह हमारी समृद्ध सांस्कृतिक परंपरा के साथ अन्याय होगाI हमें हर हाल में अपनी इस परंपरा और विरासत को दूषित होने से बचाना होगाI

अभी तक का सफ़र-

27 जनवरी को इंटैक के स्थापना दिवस के अवसर पर विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया जा चुका है I प्रथमहेरिटेज वॉक के अंतर्गत मनुमणि कुंड, गणेश कुंड, मणि पर्वत, अग्नि कुंड जैसे स्थलों का दौरा कर इसके पौराणिक इतिहास का परिचय प्राप्त किया गया तथा इस पर काम करने की योजना बनाई गईI गुलाब बाड़ी में स्थानीय कला विधा पर आधारित पेंटिंग कार्यशाला का आयोजन किया गया, विद्यालय स्तर पर हेरिटेज क्लबों की स्थापना का काम किया गया ताकि बच्चों को भी जागरूक किया जा सकेI गुप्तार घाट स्थित चरण-पादुका मंदिर की देख-रेख, इसकी साफ-सफाई का अभियान चलाया गयाI लक्ष्मी सागर कुंड को स्थानीय नागरिकों के सहयोग से नया स्वरूप देने की का प्रयास किया जा रहा हैI यहाँ भरी संख्या में पौधरोपण कर पौध रक्षकों को भी स्थापित किया जा चुका है I

20 फरवरी 2021 को इंटैक  के राष्ट्रीय मुखिया मेजर जनरल (रिटायर्ड ) एलके गुप्ता एवं यूपी के संयोजक जयंत कृष्णा जी के अभिनंदन समारोह  के अवसर पर वृहद स्तर पर पौधों का रोपण किया गयाI साथ ही स्थानीय हस्तशिल्प एवं कला प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया Iविद्यालय एवं महाविद्यालय स्तर पर अभी तक दो विद्यालयों में हेरिटेज क्लब की स्थापना के माध्यम से छात्रों और शिक्षकों को जोड़ा जा चुका है I जबकि आगामी 23 मार्च को लगभग 25 विद्यालयों- महाविद्यालयों के शिक्षकों को हेरिटेज क्लब के निर्माण के सन्दर्भ में प्रशिक्षित करने हेतु कार्यशाला का आयोजन प्रस्तावित है I

भावी  योजनाएं-

पूजा में चढ़ाए गए फूलों से अगरबत्ती बनाने के लिए कार्यशाला का आयोजन, चरण पादुका मंदिर को सांस्कृतिक केंद्र के रूप में व्यवस्थित व विकसित करना, मनु मणि कुंड को स्थानीय नागरिकों के सहयोग से नया स्वरुप प्रदान करना, गुप्तार घाट के मंदिरों को भी सरयू नदी की साफ-सफाई के लिए आगे आने के लिए प्रेरित करना व उन्हें इस मुहिम से जोड़ना, विरासत यात्राएं

14 मार्च को प्रस्तावित है दूसरी विरासत यात्रा –

अयोध्या चैप्टर की ओर से दूसरी विरासत यात्रा आगामी 14 मार्च को प्रातः 6.00 बजे से 7.00 बजे तक प्रस्तावित है I इसकी शुरुआत तुलसी उद्यान से की जाएगी I

23 मार्च को प्रस्तावित है शिक्षक-प्रशिक्षण कार्यशाला–

आगामी 23 मार्च को लगभग 20 से अधिक विद्यालयों- महाविद्यालयों के शिक्षकों को हेरिटेज क्लब की स्थापना के सन्दर्भ में प्रशिक्षित करने हेतु कार्यशाला का आयोजन प्रस्तावित है I

जिंगल बेल स्कूल सोसायटी, सिविल लाइन्स स्थित कांफ्रेंस कक्ष में आयोजित पत्रकार वार्ता में इन्टैक अयोध्या चैप्टर की संयोजक मंजुला झुनझुनवाला ने पत्रकारों से संवाद करते हुए उक्त जानकारी दी I इस अवसर पर सह-संयोजक डॉ इन्द्रोनील बनर्जी, अपर सह-संयोजक अनुजा श्रीवास्तवा, आर. बी. ठाकुर एवं मीडिया प्रभारी शिव प्रसाद मिश्र उपस्थित रहे I

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *