सोल्हवां गांव के पास नहर कटने से लगभग 15 बीघा गेहूं की फसल जलमग्न सोल्हवां गांव के पास नहर कटने से लगभग 15 बीघा गेहूं की फसल जलमग्न
हरीलाल प्रजापति बसखारी अम्बेकरनगर तहसील क्षेत्र आलापुर के जहांगीरगंज रजबहा की पटरी सोल्हवां गांव के पास कटने से लगभग 15 बीघा गेहूं की फसल... सोल्हवां गांव के पास नहर कटने से लगभग 15 बीघा गेहूं की फसल जलमग्न

हरीलाल प्रजापति

बसखारी अम्बेकरनगर

तहसील क्षेत्र आलापुर के जहांगीरगंज रजबहा की पटरी सोल्हवां गांव के पास कटने से लगभग 15 बीघा गेहूं की फसल जलमग्न हो गई। पानी भर जाने से किसानों को फसल नष्ट हो जाने का खतरा सताने लगा है। मशक्कत के बाद किसी तरह क्षतिग्रस्त पटरी को दुरुस्त किया गया। इसके बाद किसानों ने राहत की सांस ली।इन दिनों जहांगीरगंज रजबहा में पानी आ रहा है। पर्याप्त साफ-सफाई न होने तथा पटरियों की समुचित मरम्मत न किए जाने के चलते मंगलवार को सुबह रजबहा की पटरी सोल्हवां के पास अचानक कट गई। इससे किसानों की करीब 15 बीघा गेहूं की फसल जलमग्न हो गई। इसमें सोल्हवां गांव निवासी ओमप्रकाश यादव की दो बीघा, वासुदेव की 10 बिस्वा, वीरे की 1 बीघा, राघव तिवारी की 10 बिस्वा, दीपनरायण की दो बीघा, रामचंद्र यादव की डेढ़ बीघा, राजाराम व रामसेवक आदि किसानों की करीब 15 बीघा गेहूं की फसल जलमग्न हो गई।पटरी कटने की जानकारी पर बड़ी संख्या में किसान मौके पर पहुंचे और किसी तरह से पटरी को दुरुस्त किया। फसल में पानी भर जाने से किसानों को अपनी फसल बर्बाद होने की चिंता सता रही है। उधर, किसानों की शिकायत पर पूर्व विधायक त्रिवेणीराम ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को फोन कर नहर में पानी रोक कर जगह-जगह कमजोर हो चुकी पटरी को दुरुस्त कराने को कहा है। कहा कि यदि समय रहते ध्यान न दिया गया तो पटरी कटने से किसानों को भारी क्षति पहुंच सकती है।उधर, ब्लॉक प्रमुख धर्मराज यादव, पूर्व जिला पंचायत सदस्य अनवर सादात अंसारी, प्रेमनरायण यादव व वीरेंद्र तिवारी आदि का कहना है कि सिंचाई विभाग द्वारा प्रति वर्ष रजबहा की मरम्मत व सफाई के नाम पर लाखों रुपये खर्च किए जाते हैं, लेकिन हकीकत धरातल पर नहीं दिख पाती। सिंचाई विभाग के जेई शैलेष कुमार का कहना है कि क्षतिग्रस्त पटरी को दुरुस्त करा दिया गया है। किसानों की शिकायतों का प्रमुखता से संज्ञान लिया जाता है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *