मन की निर्मलता ही वास्तविक स्वच्छता: उदयराज मिश्र मन की निर्मलता ही वास्तविक स्वच्छता: उदयराज मिश्र
राजेश तिवारी अम्बेडकरनगर।”निर्मल मन सो जन मोहिं पावा।मोहिं कपट छल छिद्र न भावा”।।कदाचित मन की पवित्रता और परिवेश की स्वच्छता ही मानवजीवन की महती... मन की निर्मलता ही वास्तविक स्वच्छता: उदयराज मिश्र

राजेश तिवारी

अम्बेडकरनगर।”निर्मल मन सो जन मोहिं पावा।मोहिं कपट छल छिद्र न भावा”।।कदाचित मन की पवित्रता और परिवेश की स्वच्छता ही मानवजीवन की महती आवश्यकता औरकि समय का तकाजा है। ये उदगार माध्यमिक शिक्षक संघ,अम्बेडकर नगर के जिलाध्यक्ष उदयराज मिश्र ने व्यक्त किये।श्री मिश्र गांधी स्मारक इंटर कॉलेज,राजेसुल्तानपुर द्वारा आयोजित रासेयो शिविर के तृतीय दिवस बतौर वक्ता सम्बोधित कर रहे थे।
ध्यातव्य है कि उक्त कॉलेज में राष्ट्रीय सेवा योजना की दो इकाइयां शासन द्वारा अनुमन्य हैं।जिनका सप्त दिवसीय विशेष शिविर निकटवर्ती विद्यालय गांधी स्मारक संस्कृत उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 15 फरवरी से प्रधानाचार्य कप्तान सिंह के निर्देशन में आयोजित किया जा रहा है।
उक्त शिविर के तृतीय दिवस अपराह्न आयोजित स्वच्छता विषयक बौद्धिक संगोष्ठी में शिविरार्थियों ने बढ़चढ़कर प्रतिभाग किये।जिसे संस्कृत विद्यालय के प्रधानाचार्य आचार्य प्रभात त्रिपाठी,प्रभारी कार्यक्रमाधिकारी हरिप्रसाद यादव व श्यामकेतु सिंह,आचार्य बलराम दुबे,आचार्य आलोक सिंह,शिक्षक राजेश मिश्रा,अमरनाथ पांडेय सहित अन्यान्य वक्ताओं ने सम्बोधित किया।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *