कुलपति ने किया छात्रों से संवाद कुलपति ने किया छात्रों से संवाद
अयोध्या। डॉ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानन्द सभागार में आज 09 फरवरी, 2021 को सायं 3ः30 बजे मार्च माह के प्रथम सप्ताह में होने वाले नैक मूल्यांकन के सम्बन्ध में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने परिसर के स्नातक छात्र-छात्राओं से सीधा संवाद स्थापित किया।       कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने छात्रों से संवाद स्थापित करते हुए बताया कि विद्यार्थी जीवन का मुख्य उद्देश्य अध्ययन करना होता है और नकारात्मकता से स्वयं को दूर करना चाहिए। प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में कुछ न कुछ समस्याएं अवश्य होती हैं उन्हीं समस्याओं के बीच आपको अपनी सफलता के लिए संघर्ष करना होता है। जीवन में नकारात्मक पक्षों से दूर रहकर सफलता प्राप्त की जा सकती है। कुलपति के द्वारा परिसर में अध्ययनरत विद्यार्थियों से उनके अध्ययन के दौरान होने वाली कठिनाइयों पर चर्चा की गई। कुलपति प्रो0 सिंह ने कहा कि शीघ्र ही छात्रों की समस्याओं का निराकरण कर उन्हें बेहतर परिवेश प्रदान किया जाएगा। उच्च गुणवत्ता का परिवेश तैयार करने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन प्रतिबद्ध है। कुलपति ने नैक मूल्याकंन के दृष्टिगत परिसर की शिक्षण व्यवस्था, शोध गतिविधियों, पुस्तकालय सहित कई वांछित सूचनाओं पर विस्तृत चर्चा कर बताया कि परिसर के विद्यार्थिंयों से नैक सीधे तौर पर एसएमएस एवं ई-मेल के जरिये सूचना प्राप्त कर रहा है। विश्वविद्यालय ने नैक मूल्यांकन के लिए अपनी तैयारियां लगभग पूरी कर ली है और अपने आवश्यक संसाधनों को अपगे्रड करने की दिशा में अग्रसर है।    कार्यक्रम में परिसर नैक सेल के समन्वयक प्रो0 फारुख जमाल ने छात्रों को बताया कि विश्वविद्यालय में अध्ययन के लिए आधुनिक उपकरणों के साथ व्यवस्थाएं प्रदान की जा रही है। पेय जल, पुस्तकालय, कैंटीन जैसी सुविधाओं के लिए शीघ्र ही विश्वविद्यालय में और बेहतर प्रबंधन के साथ सुविधाएं उपलब्ध होंगी। विश्वविद्यालय के कुलसचिव उमानाथ ने छात्रों के परीक्षाफल को लेकर बताया कि विश्वविद्यालय शीघ्र ही परीक्षाफल घोषित कर देगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो0 नीलम पाठक ने कहा कि छात्रों की छात्रवृत्ति संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए कार्य किया जा रहा है। कार्यक्रम का संचालन प्रो0 नीलम पाठक ने किया। इस अवसर पर प्रो0 हिमांशु शेखर, प्रो0 आरके सिंह, प्रो0 विनोद श्रीवास्तव, प्रो0 शैलेंद्र वर्मा, प्रो0 रमापति मिश्रा, डाॅ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी, इंजीनियर शिक्षा जैन, डॉ0 त्रिलोकी यादव, डॉ0 कपिल राणा, डॉ0 अनुराग पांडे, इंजीनियर अनुराग सिंह, डाॅ0 निमिष मिश्र, शाम्भवी शुक्ला,डॉ0 महेंद्र पाल, डॉ0 अनिल मिश्र, डाॅ0 विनय कुमार मिश्र, डॉ0 श्रीश आस्थाना, डाॅ0 आरएन पाण्डेय, संजीत पांडे, इंजीनियर जैनेंद्र कुमार, इंजीनियर अमित सिंह, डॉ0 दिलीप सिंह, शालिनी पांडे, श्रिया श्रीवास्तव, अनुराग सिंह, डाॅ0 अनिल कुमार विश्वा, डाॅ0 आशुतोष पाण्डेय, अशीष पटेल सहित बड़ी संख्या में शिक्षक एवं छात्र उपस्थित रहे। कुलपति ने किया छात्रों से संवाद

अयोध्या। डॉ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के स्वामी विवेकानन्द सभागार में आज 09 फरवरी, 2021 को सायं 3ः30 बजे मार्च माह के प्रथम सप्ताह में होने वाले नैक मूल्यांकन के सम्बन्ध में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने परिसर के स्नातक छात्र-छात्राओं से सीधा संवाद स्थापित किया।

      कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने छात्रों से संवाद स्थापित करते हुए बताया कि विद्यार्थी जीवन का मुख्य उद्देश्य अध्ययन करना होता है और नकारात्मकता से स्वयं को दूर करना चाहिए। प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में कुछ न कुछ समस्याएं अवश्य होती हैं उन्हीं समस्याओं के बीच आपको अपनी सफलता के लिए संघर्ष करना होता है। जीवन में नकारात्मक पक्षों से दूर रहकर सफलता प्राप्त की जा सकती है। कुलपति के द्वारा परिसर में अध्ययनरत विद्यार्थियों से उनके अध्ययन के दौरान होने वाली कठिनाइयों पर चर्चा की गई। कुलपति प्रो0 सिंह ने कहा कि शीघ्र ही छात्रों की समस्याओं का निराकरण कर उन्हें बेहतर परिवेश प्रदान किया जाएगा। उच्च गुणवत्ता का परिवेश तैयार करने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन प्रतिबद्ध है। कुलपति ने नैक मूल्याकंन के दृष्टिगत परिसर की शिक्षण व्यवस्था, शोध गतिविधियों, पुस्तकालय सहित कई वांछित सूचनाओं पर विस्तृत चर्चा कर बताया कि परिसर के विद्यार्थिंयों से नैक सीधे तौर पर एसएमएस एवं ई-मेल के जरिये सूचना प्राप्त कर रहा है। विश्वविद्यालय ने नैक मूल्यांकन के लिए अपनी तैयारियां लगभग पूरी कर ली है और अपने आवश्यक संसाधनों को अपगे्रड करने की दिशा में अग्रसर है।

   कार्यक्रम में परिसर नैक सेल के समन्वयक प्रो0 फारुख जमाल ने छात्रों को बताया कि विश्वविद्यालय में अध्ययन के लिए आधुनिक उपकरणों के साथ व्यवस्थाएं प्रदान की जा रही है। पेय जल, पुस्तकालय, कैंटीन जैसी सुविधाओं के लिए शीघ्र ही विश्वविद्यालय में और बेहतर प्रबंधन के साथ सुविधाएं उपलब्ध होंगी। विश्वविद्यालय के कुलसचिव उमानाथ ने छात्रों के परीक्षाफल को लेकर बताया कि विश्वविद्यालय शीघ्र ही परीक्षाफल घोषित कर देगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो0 नीलम पाठक ने कहा कि छात्रों की छात्रवृत्ति संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए कार्य किया जा रहा है। कार्यक्रम का संचालन प्रो0 नीलम पाठक ने किया। इस अवसर पर प्रो0 हिमांशु शेखर, प्रो0 आरके सिंह, प्रो0 विनोद श्रीवास्तव, प्रो0 शैलेंद्र वर्मा, प्रो0 रमापति मिश्रा, डाॅ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी, इंजीनियर शिक्षा जैन, डॉ0 त्रिलोकी यादव, डॉ0 कपिल राणा, डॉ0 अनुराग पांडे, इंजीनियर अनुराग सिंह, डाॅ0 निमिष मिश्र, शाम्भवी शुक्ला,डॉ0 महेंद्र पाल, डॉ0 अनिल मिश्र, डाॅ0 विनय कुमार मिश्र, डॉ0 श्रीश आस्थाना, डाॅ0 आरएन पाण्डेय, संजीत पांडे, इंजीनियर जैनेंद्र कुमार, इंजीनियर अमित सिंह, डॉ0 दिलीप सिंह, शालिनी पांडे, श्रिया श्रीवास्तव, अनुराग सिंह, डाॅ0 अनिल कुमार विश्वा, डाॅ0 आशुतोष पाण्डेय, अशीष पटेल सहित बड़ी संख्या में शिक्षक एवं छात्र उपस्थित रहे।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *