प्राकलन समिति ने की बैठक प्राकलन समिति ने की बैठक
अयोध्या 06 जनवरी 2020 (सूवि)ः-विधायिका द्वारा समय-समय पर संसदीय परम्पराओ को मजबूत करने के लिए सांसद एवं प्रदेश के विधान मण्डल द्वारा जन प्रतिनिधियो... प्राकलन समिति ने की बैठक

अयोध्या 06 जनवरी 2020 (सूवि)ः-विधायिका द्वारा समय-समय पर संसदीय परम्पराओ को मजबूत करने के लिए सांसद एवं प्रदेश के विधान मण्डल द्वारा जन प्रतिनिधियो की समिति गठित की जाती है जिसमें सत्ता पक्ष एवं प्रतिपक्ष के सदस्य/विधायकगण-सदस्य होते है। उसी प्रकार उ0प्र0 विधान सभा द्वारा विधायकगणो की विधानसभा के अध्यक्ष द्वारा प्राकलन समिति (2019-20) का गठन किया गया है। उसी प्राकलन समिति की उप समिति जिसके सभापति विधायक ज्ञानेन्द्र की अध्यक्षता में उप समिति का अध्ययन दल आज अयोध्या जनपद के सर्किट हाउस में जनपद के वरिष्ठ अधिकारियो के साथ बैठक की। इस समिति में समिति के सभापति ज्ञानेन्द्र (महाराजगंज) के अलावा सुरेशवर सिंह (बहराइच), साकेन्द्र प्रताप वर्मा (बाराबंकी), डा0 अवधेश सिंह (बाराबंकी), राकेश प्रताप सिंह (अमेठी), नाहिद हसन (शामली) ने भाग लिया। इस बैठक में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, डीआईजी/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार, मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार आदि अधिकारियो ने समिति के सदस्यो का स्वागत किया। समिति की कार्यवाही विधानसभा के संयुक्त सचिव अरविन्द पाठक द्वारा सभापति के अनुमति से शुरू की गई इसमें जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने समिति के सम्मुख विकास सम्बन्धी बिन्दुओ का विवरण बिन्दुवार प्रस्तुत किया जिसमें मुख्य से राजस्व, समाज कल्याण, पंचायतराज, ग्राम्य विकास, ऊर्जा आदि के बिन्दु रहे तथा पुलिस विभाग का विवरण डीआईजी/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार के द्वारा प्रस्तुत किया गया।
इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व जीएन शुक्ला, एसपी सिटी विजय पाल सिंह, परियोजना निदेशक कमलेश सोनी उप निदेशक सूचना डा मुरलीधर सिंह, अर्थ एवं संख्याधिकारी धीरेन्द्र यादव सहित विभिन्न विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी एवं अभियन्ता उपस्थित थे। यह समिति बैठक के पूर्व अयोध्या में दर्शन पूजन आदि किया। बैठक के उपरान्त गोण्डा के लिए प्रस्थान किया प्राकलन समिति आज गोण्डा में भी बैठक करेगी तथा 07 जनवरी 2021 को जनपद बहराइच में भी बैठक करेगी इसके सभापति ज्ञानेन्द्र ने बताया कि भ्रमण का मुख्य उद्देश्य विधान सभा के सदस्यो द्वारा विधानसभा के पटल पर उठाये गये कुछ बिन्दुओ पर प्रशासन के अधिकारियो के साथ चर्चा करना एवं विधायिका व कार्यपालिका में संसदीय परम्पराओ के तहत जानकारी देना है।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *