जेन्डर असमानता महिला सशक्तीकरण में बाधकः जया शांडिल्य जेन्डर असमानता महिला सशक्तीकरण में बाधकः जया शांडिल्य
अयोध्या। महिलाओं को अर्थिक दृष्टि से सुदृढ़ बनाना ही महिला सशक्तीकरण है। केन्द्र्र व प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को राजनैतिक, सामाजिक एवं कानूनी रूप से जागरूक किया जा रहा है। अगर महिलाएं जागरूक हो गई तो निश्चित रूप से समाज में अपनी पहचान बनायेगी। उक्त वक्तव्य डिप्टी एसपी, क्राइम ब्रांच सीआईडी, लखनऊ की जया शांडिल्य ने डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के वीमेन ग्रीवेंस एवं वेलफेयर सेल द्वारा आयोजित मिशन शक्ति अभियान में महिला सशक्तीकरण एवं सुरक्षा विषय पर कहीं। उन्होंने कहा कि जेन्डर असमानता केवल भारत की समस्या नही है बल्कि पूरे विश्व की एक ज्वलंत समस्या है जो महिला सशक्तीकरण के विकास में एक बाधा है। इन सभी से हम सभी को ऊबरने की आवश्यकता है। उन्होंने ने कहा कि वह समय आ गया है कि समाज में महिलाओं को जागृत किया जाये। उनके जागृत होने से परिवार प्रगति के साथ देश आगे बढ़ेगा। इसके साथ ही उन्होंने बालिकाओं से सोशल मीडिया के हानिकारक पक्षों एवं साइबर अपराध से बचने की सलाह दी।        वीमेन ग्रीवेंस एवं वेलफेयर सेल की समन्वयक प्रो0 तुहिना वर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षत करते हुए बताया कि विश्वविद्यालय के सेल द्वारा प्रदेश सरकार के मिशन शक्ति अभियान के तहत श्रृंखलाबद्ध वेबिनार का आयोजन हो रहा है। इसमें विभिन्न विशेषज्ञों द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं को उनके आत्मरक्षा के प्रति जागरूक किया जा रहा है। कार्यक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह के दिशा-निर्देशन में किया जा रहा है। इसके साथ ही महिलाओं को सशक्त बनाने एवं उनकी सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए शपथ दिलाई गई है। कार्यक्रम में सेल की उपसमन्वयक डाॅ0 सिंधु सिंह ने अतिथि का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि महिलाएं तभी सशक्त हो सकेगी जब वे अपनी सुरक्षा के प्रति जागरूक हो। वेबिनार का संचालन सेल की सदस्य डाॅ0 प्रतिभा त्रिपाठी ने किया। इस अवसर पर कुलसचिव उमानाथ, डाॅ0 सरिता द्विवेदी, इंजीनियर मनीषा यादव, डाॅ0 महिमा चैरसिया, इंजीनियर निधि अस्थाना, नीलम मिश्रा, वल्लभी तिवारी सहित शिक्षक एवं प्रतिभागी आॅनलाइन जुड़े रहे। जेन्डर असमानता महिला सशक्तीकरण में बाधकः जया शांडिल्य

अयोध्या। महिलाओं को अर्थिक दृष्टि से सुदृढ़ बनाना ही महिला सशक्तीकरण है। केन्द्र्र व प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को राजनैतिक, सामाजिक एवं कानूनी रूप से जागरूक किया जा रहा है। अगर महिलाएं जागरूक हो गई तो निश्चित रूप से समाज में अपनी पहचान बनायेगी। उक्त वक्तव्य डिप्टी एसपी, क्राइम ब्रांच सीआईडी, लखनऊ की जया शांडिल्य ने डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के वीमेन ग्रीवेंस एवं वेलफेयर सेल द्वारा आयोजित मिशन शक्ति अभियान में महिला सशक्तीकरण एवं सुरक्षा विषय पर कहीं। उन्होंने कहा कि जेन्डर असमानता केवल भारत की समस्या नही है बल्कि पूरे विश्व की एक ज्वलंत समस्या है जो महिला सशक्तीकरण के विकास में एक बाधा है। इन सभी से हम सभी को ऊबरने की आवश्यकता है। उन्होंने ने कहा कि वह समय आ गया है कि समाज में महिलाओं को जागृत किया जाये। उनके जागृत होने से परिवार प्रगति के साथ देश आगे बढ़ेगा। इसके साथ ही उन्होंने बालिकाओं से सोशल मीडिया के हानिकारक पक्षों एवं साइबर अपराध से बचने की सलाह दी।

       वीमेन ग्रीवेंस एवं वेलफेयर सेल की समन्वयक प्रो0 तुहिना वर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षत करते हुए बताया कि विश्वविद्यालय के सेल द्वारा प्रदेश सरकार के मिशन शक्ति अभियान के तहत श्रृंखलाबद्ध वेबिनार का आयोजन हो रहा है। इसमें विभिन्न विशेषज्ञों द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं को उनके आत्मरक्षा के प्रति जागरूक किया जा रहा है। कार्यक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह के दिशा-निर्देशन में किया जा रहा है। इसके साथ ही महिलाओं को सशक्त बनाने एवं उनकी सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए शपथ दिलाई गई है। कार्यक्रम में सेल की उपसमन्वयक डाॅ0 सिंधु सिंह ने अतिथि का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि महिलाएं तभी सशक्त हो सकेगी जब वे अपनी सुरक्षा के प्रति जागरूक हो। वेबिनार का संचालन सेल की सदस्य डाॅ0 प्रतिभा त्रिपाठी ने किया। इस अवसर पर कुलसचिव उमानाथ, डाॅ0 सरिता द्विवेदी, इंजीनियर मनीषा यादव, डाॅ0 महिमा चैरसिया, इंजीनियर निधि अस्थाना, नीलम मिश्रा, वल्लभी तिवारी सहित शिक्षक एवं प्रतिभागी आॅनलाइन जुड़े रहे।

Times Todays News

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *